Saturday, September 25, 2021

 

 

 

लखनऊ हाई कोर्ट ने वसीम रिजवी के खिलाफ की याचिका खारिज, सुप्रीम कोर्ट जाएगी रजा एकेडमी

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई: शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमेन वसीम रिजवी के के खिलाफ रजा एकेडमी द्वारा दायर की गई जनहित याचिका को लखनऊ उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया है। यह याचिका इस्लाम धर्म को लेकर उसके द्वारा की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के सबंध में की गई थी। लखनऊ हाईकोर्ट ने याचिका को यह कहकर खारिज कर दिया कि याचिका से जुड़ा मुद्दा जनहित में नहीं है।

रज़ा एकेडमी प्रमुख अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी साहब ने बताया कि लखनऊ हाई कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद वह अब सुप्रीम कोर्ट जायेंगे। उन्होने कहा कि वसीम रिजवी के खिलाफ देश भर में अलग-अलग थानों में मुकदमे दर्ज है। लेकिन अब तक उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। वह शिया-सुन्नी मुसलमानों को लड़ाने की साजिश में लगा हुआ है।

अल्हाज मुहम्मद सईद नूरी साहब

उन्होने कहा कि वसीम रिज़वी पर कुरान में बदलाव की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट भी जुर्माना लगा चुका है। शिया समुदाय के उलेमा उसे इस्लाम से बाहर कर चुके है। शिया समुदाय ने उसका पूरी तरह से बहिष्कार किया हुआ है। साथ ही ये ऐलान किया हुआ है कि उसकी मौत होने पर उसके शव को शिया कब्रिस्तानों में दफनाने नहीं दिया जाएगा। उसकी पहले से बनी कब्र को भी नष्ट कर दिया गया।

नूरी साहब ने कहा कि लखनऊ उच्च न्यायालय ने हमारी जनहित याचिका को खारिज कर दिया है, लेकिन सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा हमारे लिए खुला है। हमारे वकील इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगे। उन्होने कहा कि हम चुप नहीं रहेंगे। रिजवी ने लूट, बलात्कार के अलावा भी कई अपराध किए हैं। जिसको लेकर उस पर कई प्राथमिकी दर्ज है लेकिन न तो केंद्र सरकार और न ही प्रांतीय सरकार ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई की और अब लखनऊ उच्च न्यायालय भी इस पर अंकुश लगाने से डरता है। ऐसा लगता है कि यह व्यक्ति देश के संविधान से ऊपर है। हमें उम्मीद है कि देश के सुप्रीम कोर्ट से हमें न्याय मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles