नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा कि नोटबंदी से देश को से करीब 2 लाख करोड़ का नुकसान हुआ वहीं टैक्स की वजह से केवल 10 हजार करोड़ की आय हुई.

उन्होंने कहा, सरकार को नोटबंदी की वजह से होने वाले नुकसान के लिए उन्होंने पहले ही आगाह कर दिया था. उन्होंने कहा कि नोटबंदी की वजह से GDP में दो प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई. जो कि लगभग 2 लाख करोड़ के आसपास है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नोटबंदी के बाद घटे रोजगार के मौकों पर राजन ने कहा कि वह इससे चिंतित हैं. अगर हम रोजगार नहीं पैदा करेंगे तो हालात और खराब होंगे. जीडीपी वृद्धि को लेकत उन्होंने कहा कि भारत को तीन क्षेत्रों बुनियादी ढांचा, बिजली व निर्यात पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

उन्होंने कहा, सरकार को आयात बढ़ाने पर भी जोर देना चाहिए. न सिर्फ मेक इन इंडिया हो बल्कि मेक फॉर इंडिया भी हो. सरकार को एक्सपोर्ट प्रमोशन पर ध्यान देना चाहिए.

इस दौरान राजन ने फिर से गवर्नर बनने की इच्छा जाहिर की. उन्होंने कहा कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया, उनका टर्म खत्म हुआ था. उन्होंने कहा, बैंकिंग सेक्टर में सुधार के लिए अभी बहुत से काम होने बाकी हैं.

Loading...