ग़ाज़ियाबाद । 2019 में होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा भगवान राम को एक बार फिर मुद्दा बना सकती है। यही वजह है की पीछले कुछ दिनो से अयोध्या को लेकर चर्चाए तेज़ हो गयी है। यही नही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार भी अयोध्या पर कुछ ज़्यादा ही ध्यान दे रही है। इसलिए समाजवादी पार्टी की और से भगवान राम के आगे श्री कृष्ण को आगे करने पर विचार कर रही है जिससे कि इस मुद्दे की हवा निकाली जा सके।

इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, सैफ़ई में एक 50 फ़ीट ऊँची भगवान कृष्ण की मूर्ति लगाव रहे है। अब इस मुद्दे को उनके पिता मुलायम सिंह यादव भी आगे बढ़ाते हुए नज़र आ रहे है। इसलिए उन्होंने भगवान राम के मुक़ाबले श्री कृष्ण को पूरे देश का आराध्यय बताया है। यही नही उन्होंने प्रदेश की योगी सरकार पर भी हमला बोला और उन्हें हर मोर्चे पर विफल क़रार दिया।

ग़ाज़ियाबाद के वैशाली सेक्टर-4 में एक वैवाहिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे मुलायम सिंह यादव ने कहा यूपी सरकार केवल धर्म की राजनीति कर रही है। वह अयोध्या में राम मंदिर, दीपोत्सव और बनारस में आरती का आयोजन कर हिंदुओ का वोट बटोरना चाहती है। समाजवादी सरकार ने जो काम किए उसका एक हिस्सा भी भाजपा सरकार नही कर पायी। हम सबको समान मानते है और सबके लिए काम करते है।

भगवान राम पर उन्होंने कहा की श्री कृष्ण हमेशा सबको समान मानते थे इसलिए वह पूरे भारत में पूजे जाते है। भगवान राम हमारे आदर्श है लेकिन यह भी सच है की भगवान श्री कृष्ण पूरे देश में आराध्य है जबकि भगवान राम केवल उत्तर भारत में पूजे जाते है। चूँकि यादव श्री कृष्ण के वंशज है इसलिए उनकी तरह ही हम भी सबको समान मानते है। इस दौरान मुलायम सिंह ने निकाय चुनाव पर कोई भी प्रतिक्रिया नही दी।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें