Sunday, August 1, 2021

 

 

 

शाह के इस्तीफे की मांग पर लोकसभा और राज्यसभा में भारी हंगामा, दोनों सदन मंगलवार तक स्थगित

- Advertisement -
- Advertisement -

संसद के बजट सत्र का दूसरा भाग आज सोमवार को शुरू होते ही हंगामे की भेंट चढ़ गया। सत्र के शुरू होते ही दिल्ली हिं’सा को लेकर जमकर नारेबाजी हुई। विपक्ष के सांसदों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की। दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होते ही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित हुई। लेकिन फिर से शुरू होने के बाद दिल्ली हिं’सा का मुद्दा उठा और हंगामा हुआ। जिसके चलते राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

इससे पहले संसद परिसर में कांग्रेस समेत विपक्ष के कई दलों के सांसदों ने धरना प्रदर्शन किया। कांग्रेस, तृणमूल और आप सांसदों ने दिल्ली दंगों पर सरकार से जवाब मांगते हुए संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के पास अलग-अलग धरना दिया। विपक्ष की नारेबाजी के बीच संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि जिनके कार्यकाल में 1984 जैसी घटना हुई वो आज यहां पर हंगामा कर रहे हैं। मैं इसकी कड़ी निंदा करता हूं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी, अधीर रंजन चौधरी, शशि थरूर और अन्य लोगों ने दिल्ली दंगों पर जवाब देने और गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की। वहीं आप के चार सांसदों- संजय सिंह, भगवंत मान, एन डी गुप्ता और सुशील गुप्ता ने दिल्ली में हिंसा के खिलाफ संसद की गांधी प्रतिमा के सामने किया। उन्होंने “बीजेपी मुर्दाबाद” के नारे लगाए।

दिल्ली हिं’सा को लेकर संसद में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिए जाने पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ”कुछ लोग सड़क पर दंगा करवा के संसद में पंगा लेना चाहते हैं। आपने किस प्रावधान, नियम के तहत नोटिस दिया है। चेयरमैन साहब, स्पीकर तय करेंगे कि उस पर किस तरह से बहस या चर्चा होगी।”

इससे पहले लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने भी कहा था कि पार्टी दिल्ली के दं’गों का मुद्दा संसद में जोरशोर से उठाएगी। चौधरी ने बताया, ‘सरकार कानून व्यवस्था की स्थिति को बरकरार रखने में पूरी तरह से नाकाम रही है। मुझे लगता है कि दंगा फैलाने वालों और पुलिस अधिकारियों के एक वर्ग की मिलीभगत हो सकती है जिसके कारण हुई भीषण हिंसा ने पूरी दुनिया में हमारी (भारत की) छवि को दागदार बना दिया है। हम सभी के लिए यह गंभीर चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा, ‘हम गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग सदन में उठाते रहेंगे। इस बीच राज्यसभा सदस्य और पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी कहा कि कांग्रेस देश में लोकतांत्रिक मूल्यों को नष्ट करने का मुद्दा संसद में उठाने की पुरजोर कोशिश करेगी।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles