जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से लापता छात्र नजीब अहमद मामले जुड़े 9 छात्रों का सीबीआई लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराना चाहती है.

बुधवार को सीबीआई ने पटियाला हाउस कोर्ट से मामले के संदिग्धों का पॉलीग्राफी टेस्ट की इजाजत देने की मांग की. कोर्ट 27 अक्टूबर को पालिग्राफिक टेस्ट कराने पर सुनवाई करेगा.

ये सभी 9 संदिग्ध जेएनयू के छात्र हैं. इनमें से कुछ छात्र अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े हैं. जिन्होंने कथित तौर पर नजीब अहमद के साथ मारपीट की थी. इन छात्रों के नाम अंकित राय, विजेंद्र ठाकुर, विक्रांत किनर, ऐश्वर्या प्रताप सिंह, पुष्पेश झा, सुनील प्रताप सिंह, अर्नब चक्रवर्ती, अभिजीत कुमार और संतोष कुमार हैं.

ध्यान रहे जेएनयू के माही-मांडवी हॉस्टल में 14 अक्टूबर 2016 को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े कार्यकर्ताओं की नजीब के साथ कथित तौर पर मारपीट की थी.

अगली सुबह 15 अक्टूबर को नजीब कैंपस से लापता हो गया था. जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी. हालांकि कोई सफलता न मिलने पर कोर्ट ने बाद में मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी. सीबीआई नजीब का सुराग देनेवाले को दस लाख रुपये का ईनाम देने की घोषणा भी कर चुकी है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?