पहली बार केंद्रीय कानून मंत्रालय अपना खुद का टीवी चैनल लॉन्च करने जा रहा है. इस चैनल पर मंत्रालय की और से तीन तलाक, यूनिफॉर्म सिविल कोड जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे पर चर्चा की जायेगी. इसी के साथ इन मुद्दों की संवैधानिक विवेचना भी होगी. इसके अतिरिक्त महत्वपूर्ण न्यायिक फैसलों पर वाद-विवाद का आयोजन किया जाएगा और न्यायिक जागरूकता फैलाई जाएगी.

दरअसल, मानव संसाधन 32 चैनल वाली ‘स्वयं प्रभा’ डीटीएच सर्विस शुरू कर रही है. कानून मंत्रालय की और से एक चैनल के अधिकार की मांग की गई. ‘स्वयं प्रभा’ डीटीएच सर्विस के जरिए में स्कूल और विश्वविद्यालय से संबंधित कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाएगा.

कानून मंत्रालय कार्यक्रम के निर्माण के लिए बॉलिवुड डायरेक्टर्स की नियुक्ति पर भी विचार कर रहा है. इसमें फिल्म निर्देशक प्रकाश झा का नाम शामिल है. प्रकाश को नैशनल लीगल सर्विस अथॉरिटी (एनएएलएसए) ने 15 मिनट की शॉर्ट फिल्म बनाने की जिम्मेदारी दी. वहीँ चीफ जस्टिस जे एस खेहर एनएएलएसए के चीफ पैट्रन हैं। एनएएलएसए गरीबों को मुफ्त कानूनी मदद देता है.

स परियोजना से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘इसका मकसद कानूनी मुद्दे से संबंधित एक समृद्ध बैंक तैयार करना है जिसका इस्तेमाल आम जनता कर सके. मंत्रालय अपना लीगल बैंक तैयार करने के लिए वृतचित्र, शॉर्ट फिल्म और क्लिप्स बनवाना चाह रहा है और इसके लिए यह विभिन्न प्रॉडक्शन हाउस और लॉ यूनिवर्सिटी की सेवाएं ले सकता है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?