Monday, September 20, 2021

 

 

 

लातेहार लिंचिंग: गौ क्रांति दल से जुड़े 8 दोषियों को उम्रकैद और 25-25 हजार का जुर्माना

- Advertisement -
- Advertisement -

लातेहार: झारखंड के लातेहार जिले के बालूमाथ में 17 मार्च 2016 को गोह’त्या के शक में दो पशु व्यापारियों की ह’त्या के मामले में अदालत ने आठ लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही इन सभी पर 25-25 हजार का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माने की राशि नहीं चुकाने पर एक साल की अतिरिक्त सजा भी सुनाई है।

बता दें कि लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र में 18 मार्च 2016 को 32 वर्षीय मजलूम अंसारी और आराहारा गांव निवासी आजाद खान के पुत्र 13 वर्षीय इम्तियाज की ह’त्या कर शवों को पेड़ पर लटका दिया गया था। दोनों पीड़ित छोटे मवेशी व्यापारी थे। दोनों ही गांवो से मवेशियों को खरीदते और बेचते थे। साथ ही मेलों में भी मवेशी बेचने का काम करते थे, जिससे दोनों अपने परिवार का गुजारा करते थे।

अदालत ने सभी आरोपियों को मामले में दोषी पाया गया है। दोषियों में बालूमाथ थाना क्षेत्र के निवासी प्रमोद साव, शाहदेव सोनी, मिथिलेश साहू, अवधेश साव, मनोज साव, मनोज कुमा’र साव, विशाल तिवारी व अरुण साव का नाम शामिल है। ये सभी लोग गौ क्रांति दल नामक संगठन से जुड़े थे। इनमें से कुछ का नाता बजरंग दल से होने की भी बात चर्चा में आई थी। हालांकि, बजरंग दल के पदाधिकारी इससे इनकार करते हैं।

cow

अदालत के फैसले के बाद मृतक के परिवार ने ऊपरी अदालत जाने का फैसला किया है। उनका कहना है कि दोषियों को उम्रकैद नहीं फांसी की सजा मिलनी चाहिए। उनका आरोप है कि घटना के 2 साल बाद भी मुआवजा नहीं मिला। नाबालिग इम्तियाज की मां नाजमा बीवी व पिता आजाद खान ने कहा कि उनके पास जीविकोपार्जन का कोई साधन नहीं है।

उन्होने कहा, घटना के वक्त प्रशासन के लोग वायदे कर के चले  गये। पर कुछ भी पूरा नहीं हुआ। सरकार ने हमें एक सिरे से नकार दिया है। मेरे नाबालिग पुत्र पर घर की बड़ी जिम्मेवारी थी, जिसे हमने खो दिया। करीब 35 डिसमिल खेतीहर जमीन उनके हिस्से में है। उसी से जीवन चल रहा है। सरकार की ओर से कोई मदद नहीं मिली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles