87

नई दिल्ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने हरियाणा के पलवल जिले में बनी मस्जिद को लेकर दावा किया कि इस मस्जिद का निर्माण आतंकी संगठन लश्‍कर-ए-तैयबा के फ़ंड से हुआ है।

पलवल के उत्तरा गांव में खुलाफा-ए-रशीदीन मस्जिद की जांच 3 अक्टूबर को एनआईए अधिकारियों ने की थी। एजेंसी ने इससे पहले कथित टेरर फंडिंग के मामले में नई दिल्ली में मस्जिद के इमाम मोहम्मद सलमान सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

हालांकि स्थानीय लोगों का कहना है कि मस्जिद जिस जमीन पर बना है, वह विवादित है। उन्हें सलमान के लश्कर-ए-तैयबा के साथ संबंधों की जानकारी नहीं है। आसपास के 84 गांवों के लोगों ने मिलकर चंदा देकर मस्जिद का निर्माण कराया। निर्माण कार्य वर्ष 2010 में शुरू हुआ था। इसका कुछ रेकॉर्ड उपलब्ध है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सलमान (52), मोहम्मद सलीम और सज्जाद अब्दुल वानी को 26 सितंबर को लाहौर स्थित फलाह-ए-इंसानियायत फाउंडेशन (FIF) से फंड प्राप्त करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। फलाह-ए-इंसानियायत फाउंडेशन की स्थापना हफीज सईद के जमात-उद-दावा (लश्कर का मूल संगठन) द्वारा की गई थी।

एक NIA ऑफिसर ने कहा, ‘सलमान, जो दुबई में था, तब एलईटी से जुड़े लोगों के संपर्क में आया। उसे एफआईएफ से धन प्राप्त हो रहा था। संगठन ने उसे मस्जिद बनाने के लिए 70 लाख रुपए दिए। यहां तक की उसकी बेटियों के विवाह के लिए भी पैसा दिया। अब हम जांच कर रहे हैं कि मस्जिद को दान क्यों मिल रहा है और यह पैसा कैसे इस्तेमाल किया जा रहा है।’

इससे पहले एनआईए ने अपने अधिकारिक बयान में कहा था, “जांच के दौरान यह पाया गया कि एक माेहम्मद सलमान दुबई में रहने वाले एक पाकिस्तानी नागरिक से लगातार संपर्क में है। वह पाकिस्तानी नगारिक फलाह ए इंसानियत फाउंडेशन के डिप्टी चीफ से संपर्क में है। आरोपी व्यक्ति एफआईएफ द्वारा धन प्राप्त कर रहा है और हवाला कारोबार में लिप्त है।”

Loading...