देश में मुस्लिमों के साथ धार्मिक भेदभाव बढ़ता ही जा रहा है। अब इसका खामियाजा छात्राओं को भी भुगतना पढ़ रहा है।दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से ग्रेजुएट 22 वर्षीय तान्या हसन से उनके मकान मालिक ने मुस्लिम होने की वजह से उससे फ्लैट खाली करा लिया। इतना ही नहीं उसे आतंकवादी भी करार दे दिया।

ग्रैजुएशन पूरा करने के साथ-साथ सिविल परीक्षा की तैयारी में जुटी तान्या ने बताया कि एक ब्रोकर के माध्यम से अपार्टमेंट एक्सप्रेसवे थाना एरिया में उसने मकान लिया जहां वो पहले से रह रही एक फ़्लैटमेट के साथ शनिवार सुबह ही शिफ़्ट हुई। लेकिन शाम तक ही मकान मालिक ने उसे फ्लैट ख़ाली करने को बोल दिया।

तान्या का कहना है कि मुस्लिम धर्म होने की वजह से मकान मालिक ने उन्हें घर ख़ाली करने को कहा। तान्या ने बताया कि उसके साथ फ्लैट शेयर कर रही लड़की को भी मकान मालिक ने यह कहा कि उससे दूर रहिए, इसके सम्पर्क आतंकी संगठनो के साथ सबंध हो सकते हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

islam

तान्या ने बताया कि पहले मकान मालिक को पता नहीं था कि वह मुस्लिम है। लेकिन जब पहचान पत्र देखा तो रहने के लिए मना कर दिया। तान्या का कहना है कि वो इस वीकेंड घर ख़ाली कर रही है और किसी तरह की परेशानी से बचने के लिए पुलिस में भी शिकायत नहीं करना चाहती।

बता दें कि इससे पहले कोलकाता में भी मुस्लिम डॉक्टरों के साथ ऐसा ही मामला सामने आया था। धर्म की बुनियाद पर उनके पड़ोसियों ने उनसे मकान खाली कराया था।

Loading...