बाबरी मस्जिद का मामला सुप्रीम कोर्ट में होने के बावजूद हिंदू महासभा ने बाबरी मस्जिद के चारों और सिंह द्वार का निर्माण करने की घोषणा की हैं.

महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणि द्वारा की गई इस घोषणा के पीछे उनका राजनितिक मकसद हैं. इसके जरिये वे राज्य में आगामी विधानसभा चुनावों में धार्मिक तुष्टिकरण की जमींन तैयार करना चाहते हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चक्रपाणि ने कहा की उज्जैन कुंभ में संतों ने यह निर्णय लिया था की 8 नवंबर को अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर सिंहद्वार का निर्माण किया जाएगा.

इसको लेकर उन्होंने अयोध्या में रामजन्मभूमि निर्माण न्यास के अध्यक्ष महंत जनमेजय शरण समेत कई संतो से मुलाकात की. साथ ही चक्रपाणि ने बाबरी मस्जिद के पैरोकार हाजी महबूब से भी मुलाकात की. हाजी महबुब ने कहा कि मस्जिद की जगह छोड़ कर बनाये तो उन्हें कोई एतराज नही है.