Sunday, January 23, 2022

लेडी कांस्टेबल ने दिया विवादित बयान, वीडियो आने पर CRPF ने दी सफाई

- Advertisement -

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) की तरफ से आयोजित एक बहस में महिला कॉन्स्टेबल खुशबू चौहान ने विवादित बयान दे डाला। उनके इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो सीआरपीएफ को सफाई देनी पड़ी।

दरअसल, CRPF कांस्टेबल खुशबू चौहान ने कहा, ‘उस देशद्रोही ने कहा था कि तुम एक अफजल को मारोगे तो हर घर से अफजल निकलेगा। तो मैं भारत की बेटी अपनी भारतीय सेना की ओर से आज यह ऐलान करती हूं कि उस घर में घुसकर मारेंगे, जिस घर से अफजल निकलेगा। वो कोख नहीं पलने देंगे जिस कोख से अफजल निकलेगा। और कन्हैया कुमार (जेएनयू के पूर्व छात्र नेता) के दिल में छेद कर तिरंगा लगा देना चाहिए।’

उन्होंने मानवाधिकारों की दुहाई देने वालों को कहा, ‘जब पुलवामा में 44 जवान शहीद हुए, जब छत्‍तीसगढ़ में 76 जवान शहीद हुए तो कोई भी मानवाधिकार की दुहाई देने वाला हमारे पक्ष में नहीं आया, लेकिन जब जेएनयू में जब दे्शद्रोही द्वारा ‘भारत तेरे टूकड़े होंगे’ जैसे देशविरोधी नारे लगते हैं तो सभी मानवाधिकार प्रेमी वहां पहुंच जाते हैं।

शनिवार (5 अक्टूबर) को सीआरपीएफ ने चौहान के बयान को खारिज कर दिया। सीआरपीएफ ने कहा, ‘हम मानवाधिकारों का बिना किसी शर्त के पूरा सम्मान करते हैं। उन्होंने बेहतरीन भाषण दिया लेकिन कुछ हिस्सा हटाया जाना चाहिए।’

सीआरपीएफ ने कहा कि हमने उनको उचित सलाह दी है कि कुछ बातों पर संयम रखें। चौहान को इस प्रतिस्पर्धा में सांत्वना पुरस्कार मिला था। इस ज्यूरी का नेतृत्व एनएचआरसी के सचिव जनरल जयदीप गोविंद कर रहे थे, वहीं अन्य सदस्यों में आयोग के पूर्व डीजी सुनील कृष्णा, प्रोफेसर जीएस वाजपेयी, जस्टिस पीसी पंत भी शामिल थे।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles