Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का समर्थन नहीं करता कुवैत: विदेश मंत्रालय

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। कुवैत में गैर-आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल से भारत की आलोचना पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि दोनों देशों के संबंध मित्रतापूर्ण और सहयोग आधारित हैं, ऐसे में सोशल मीडिया की अफवाहों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक बयान में कहा कि हमने कुवैत में गैर-आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल से भारत के संदर्भ में किए गए कुछ ट्वीट देखे हैं। कुवैत सरकार ने हमें आश्वासन दिया है कि वे भारत के साथ मैत्रीपूर्ण संबंधों के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।  वे भारत के आंतरिक मामलों में किसी भी हस्तक्षेप का समर्थन नहीं करते।

श्रीवास्तव ने आगे कहा कि यह भी ध्यान देने योग्य तथ्य है कि कुवैत के अनुरोध पर, भारत ने हाल ही में कोरोना वायरस के खिलाफ अपनी लड़ाई में उसकी सहायता के लिए एक रैपिड रिस्पॉन्स टीम को तैनात किया है। कुवैत में अपने दो सप्ताह के प्रवास के दौरान टीम ने पीड़ित व्यक्तियों के परीक्षण और उपचार में मूल्यवान चिकित्सा सहायता प्रदान की और वहां के कर्मियों को प्रशिक्षित किया।

वहीं कुवैत की ओर से भी इसी तरह का बयान आया है। कुवैत के भारत में राजदूत जस्सेम अल-नजीम ने सोमवार को एक प्रेस बयान जारी कर संयुक्त राष्ट्र चार्टर का हवाला देते हुए दूसरे देश के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने के सिद्धांत को दोहराया।

उल्लेखनीय है कि दो मार्च को इस टि्वटर हैंडल से यह जानकारी दी गई थी कि कुवैती कैबिनेट के महासचिव ने एक नोट में भारत में अल्पसंख्यक समुदायों की स्थिति पर चिंता व्यक्त की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles