झारखंड लिंचिंग पर बोले कुमार विश्वास – ये जाहिल राम के नाम पर बट्टा हैं..

6:47 pm Published by:-Hindi News

झारखंड में मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर मार डालने के मामले में सोमवार को 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। साथ ही दो पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच के लिए गठित की गई एसआईटी के प्रमुख को बुधवार तक गृह सचिव और मुख्य सचिव को रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है।

घटना को लेकर पूर्व आप नेता और कवि कुमार विश्वास ने ट्वीट किया। उन्होने लिखा, ये जाहिल राम के नाम पर बट्टा हैं! समय रहते इस जहालत से सतर्क होकर इसे ख़त्म करिए नहीं तो कल आप और आपके बच्चों को कहीं न कहीं ऐसी ही किसी भीड़ के इसी पागलपन का शिकार होना पड़ेगा! झारखंड के सीएम ऑफिस को टैग करते हुए उन्होंने आगे लिखा, ‘योग के मेले से मुक्ति पाकर इस विघटन से प्रदेश बचाओ नहीं तो बचोगे तुम भी नहीं।

बता दें कि तबरेज और उनके दोस्त जमशेदपुर से अपने घर सरायकेला-खरसवान के करसोवा जा रहे थे, उनके घर से मुश्किल से पांच किलोमीटर दूर ही उन पर हमला कर दिया गया। तबरेज की पत्नी शाहिस्ता परवीन ने बताया, ‘उसे बेरहमी से इसलिए मारा गया, क्योंकि वह मुस्लिम था। मेरे ससुराल में कोई नहीं है। मेरे पति ही मेरी सपोर्ट थे। मैं न्याय चाहती हूं।’

उसके परिवार ने आरोप लगाया कि पुलिस से कई बार अपील करने के बाद भी तबरेज को उचित इलाज मुहैया नहीं करवाया गया। अस्पताल ले जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई थी, इसिलए उन्हें उससे मिलने नहीं दिया गया। उन्होंने इस मामले में शामिल सभी पुलिसकर्मी और डॉक्टरों सहित आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है, जिनसे अभी पूछताछ नहीं की गई।

इस बीच विपक्षी कांग्रेस ने कहा कि उसने घटना की जांच के लिए सात सदस्यीय टीम का गठन किया है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस के एक नेता ने कहा, ‘हम मृतक के परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा और उसकी पत्नी को नौकरी दिए जाने की मांग करते हैं।’ इस घटना पर देश भर की विभिन्न राजनीतिक पार्टियां आक्रोश जाहिर कर रही हैं।

Loading...