नई दिल्ली – केरल के कोल्लम जिले में रविवार को पुत्तिंगल मंदिर में आतिशबाजी में हुई 100 से ज्यादा लोगों की मौत के बाद सोमवार को विस्फोटकों से भरी तीन कार बरामद की गईं। परावुर मंदिर के पास ही दो कारें मिलीं जिनमें काफी संख्या में पटाखे मौजूद थे। पुलिस ने इन विस्फोटकों को डिफ्यूज करने के लिए अनुमति ली है।

पुत्तिंगल मंदिर की इस दर्दनाक घटना में 383 से ज्यादा लोग घायल भी हुए थे लेकिन इस घटना से सबक न लेते हुए त्रावणकोर देवास्म बोर्ड (टीडीबी) ने पटाखों पर बैन न लगाने के लिए कहा है। टीडीबी राज्य के 1,255 से ज्यादा मंदिरों का रखरखाव करता है। इसके अध्यक्ष परायर गोपलकृष्णन ने कहा है कि मंदिर में त्यौहारों के दौरान आतिशबाजी पर रोक नहीं लगाई जा सकती है क्योंकि यह परंपराओं के खिलाफ है।

इस हादसे के बाद पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है जिसमें 15 मंदिर कमिटी के सदस्य, 2 फायरवर्क्स कॉन्ट्रैक्टर और 8 अन्य हैं। इन सभी पर हत्या के प्रयास समेत दूसरी धाराएं लगाई गई हैं। 25 लोगों पर केस दर्ज करने के अलावा पुलिस ने 5 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

मंदिर प्रशासन के दस ट्रस्टी गायब हैं, पुलिस उनकी तलाश कर रही है। विस्फोटकों के चीफ कंट्रोलर की सात सदस्यों की एक टीम घटनास्थल की छानबीन कर रही है। कोल्लम समेत राज्यों के कई अस्पतालों में लगभग 383 घायलों का इलाज चल रहा है।

3 cars with explosives found near Kerala temple: 10 developments