screenshot 15

screenshot 15

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में कथित तौर पर एक मुस्लिम परिवार के 14 लोगो के जबरन धर्मांतरण का मामला सामने आया है. इस सबंध में सवाल उठाने पर पत्रकारों से मारपीट भी की गई. जिसमें मीडिया कर्मियों को चोटें भी आई.

ये धर्मांतरण हिंदू संहति की तरफ से बुधवार को एक कार्यक्रम में कराया गया.  मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूरी घटना को गंभीरता से लेते हुए कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये हैं. पुलिस ने हिंदू संहति के तीन पदाधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारों पर हमले की बात गंभीर है. इस मामले के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी. वहीँ राज्य के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा कि इस तरह की प्रवृति धर्मनिरपेक्ष देश के लिए घातक है. जिस तरह अल्पसंख्यकों में जमात जैसे कट्टरपंथी संगठन देश को बर्बाद करने पर तुले हैं. उसी तरह हिंदू संहति जैसे संगठन देश की एकता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं. इसको सख्त हाथों से मुकाबला करने की जरूरत है.

इस मामले में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पत्रकारों के साथ इस तरह के आचरण की उम्मीद नहीं की जा सकती. ऐसा उन्होंने क्यों किया, समझ में नहीं आ रहा है.  माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा कि इस तरह की घटना के खिलाफ जनमत बनना चाहिए. पत्रकारों को रोकना गलत है.

ध्यान रहे केंद्र में भगवा सरकार के गठन के साथ ऐसे मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है. हाल ही में महाराष्ट्र में सामने आया कि कि राज्य के 87 प्रतिशत मुस्लिमों ने हिंदू धर्म स्वीकार किया है.

Loading...