कोलकाता | 14 जनवरी को कोलकाता में होने वाले , आरएसएस के प्रस्तावित कार्यक्रम के बारे में अनिश्चता बनी हुई है. कोलकाता पुलिस ने ऐसी किसी भी कार्यक्रम के लिए अनुमति देने से मना कर दिया है. राजनितिक गलियारों में चर्चा है की बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और मोदी सरकार के बीच की तल्खी की वजह से आरएसएस को कार्यक्रम करने की अनुमति नही दी गयी.

दरअसल आरएसएस , 14 जनवरी को कोलकाता में ‘हिन्दू सम्मलेन’ आयोजित करना चाहती थी. पहले यह कार्यक्रम खिद्दरपोर इलाके में भूकैलाश ग्राउंड्स पर होना था लेकिन कोलकाता पुलिस ने यह कहकर इसकी अनुमति नही दी की यहाँ भीड़ ज्यादा होने से भगदड़ की काफी सम्भावना है. इसके बाद आरएसएस ने दुसरे स्थान के लिए अनुमति मांगी , जिसको पुलिस ने दोबारा ख़ारिज कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आरएसएस ने दूसरा स्थान के लिए पुलिस को कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड का नाम सुझाया. लेकिन पुलिस ने यह कहकर इसकी अनुमति नही दी की इस मैदान पर गंगासागर मेले की तैयारी चल रही है. इस मेले में पुरे देश भर से लाखो श्रदालु आते है. इनको ट्रांजिट कैंप में ठहराया जाता है जिसके लिए पुलिस के पुख्ता इंतजाम किये जाते है.

आरएसएस को भेजे पत्र में कोलकाता पुलिस के संयुक्त कमिश्नर सुप्रतिम सरकार ने लिखा की आपको विदित होगा की गंगासागर मेले में देश भर से लाखो तीर्थ यात्री आते है. इसलिए ब्रिगेड परेड ग्राउंड में गंगासागर जाने वाले हजारो वाहनों को पार्क कराया जाता है. 13 14 जनवरी को तीर्थ यात्रियों की संख्या सबसे ज्यादा रहती है. 14 जनवरी को मकर सक्रांति है और तीर्थ यात्री काफी संख्या मौजूद होंगे इसलिए पुलिस व्यवस्था भी बढाई जाएगी.

आरएसएस के इस सम्मलेन में मुख्य वक्ता के तौर पर मोहन भागवत हिस्सा लेने वाले थे. वैसे कोलकाता का यह मैदान रक्षा मंत्रायल के अधीन आता है और सेना पहले ही आरएसएस के इस कार्यक्रम को अनुमति दे चुकी है. लेकिन पुलिस की अनुमति न मिलने की वजह से इस कार्यकर्म पर अनिश्चता के बादल छाए हुए है.

Loading...