neerav

neerav

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के 12000 हजार करोड़ रूपये लेकर विदेश फरार हुए हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के समन के जवाब में कहा कि न तो वह भारत आने वाला है और नहीं कोई कर्ज चुकाने वाला है.

दरअसल ED ने बैंक फ्रॉड मामले में पूछताछ के लिए नीरव मोदी को समन जारी किया था. इस मामले में ईडी पहले ही नीरव मोदी को नोटिस भेजा चूका है. समन के जवाब में नीरव मोदी ने ईडी को ईमेल कर कहा कि वह अब भारत नहीं लौटेगा. ईमेल की पुष्टि खुद ED ने की है.

इन्फोर्समेंट डायक्ट्रेट को गुरुवार को ई-मेल के ज़रिए हीरा व्यापारी नीरव मोदी ने यह साफ कर दिया कि वह 11,400 करोड़ के घोटाले के मामले में इन्फोर्समेंट डायक्ट्रेट के आगे पेश नहीं हो सकता. ईडी ऑफिसर को ई-मेल में जवाब देते हुए नीरव ने पासपोर्ट के टेंपररी सस्पेंशन और बिज़नेस व्यस्तताओं का हवाला देते हिुए देश वापस आने से इंकार किया है.

इसके अलावा PNB ने भी नीरव मोदी को पत्र लिखकर धमकी दी है कि वह कर्ज लौटाने का ठोस प्लान पेश करे. अन्यथा कर्ज वसूलने के सारे कानून सम्मत तरीके आजमाने के लिए बैंक स्वतंत्र है. हालांकि नीरव मोदी पीएनबी को पहले ही पत्र लिखकर यह साफ़ कर चूका है कि बैंक की वजह से यह मामला बेहद उलझ गया है. उसने कर्ज वसूली के सारे रास्ते बंद कर लिए हैं.

पीएनबी के महाप्रबंधक (अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग विभाग) अश्विनी वत्स ने नीरव मोदी को मेल कर कहा कि ‘आप गैरकानूनी और अनधिकृत तरीके से कुछ बैंक अधिकारियों के जरिए एलओयू हासिल कर रहे थे. किसी भी समय हमारे बैंक द्वारा आपकी तीन भागीदार कंपनियों को यह सुविधा नहीं दी गई थी.’

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें