इंसानियत की नई मिसाल पेश कर रहा यह मुस्लिम युवक

2:10 pm Published by:-Hindi News

गाजियाबाद | पिछले कुछ महीनो में देश के अंदर काफी ऐसी घटनाये हुए है जिसकी वजह से हिन्दू मुस्लिम के बीच सम्प्रदायिक तनाव बढ़ा है. इसके पीछे वो राजनितिक दल है जो ऐसी घटनाओ से अपनी राजनितिक रोटिया सेंकने में यकीन रखते है. कुछ ऐसे मुद्दे देश में उठाये जा रहे है जिसकी वजह से मुस्लिम समाज ज्यादा प्रभावित हो रहा है. लेकिन समाज में कुछ ऐसी आशा की किरण अभी भी मौजूद है जो संप्रदायिक सोहार्द के लिए मिसाल बन रहे है.

एक ऐसे ही शख्स का नाम है मार्टिन फैसल. 23 वर्षीय मार्टिन एक ऐसा शख्स है जो मजहब , जाति से ऊपर उठकर समाज की बेहतरी के इए काम कर रहे है. ये समाज से मजहबी विद्वेषो को दूर करने का काम बेहतरी के साथ कर रहे है. पिछले चार साल से सामाजिक सेवा में लगे मार्टिन फैसल , खिदमत-ए-अवाम युवा समिति के जरिये लोगो की मदद करते है. बिना यह जाने की उस शख्स का धर्म क्या है, जात क्या है.

फ़िलहाल मार्टिन फैसला का यह संगठन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लगभग सभी गाँव में फ़ैल चूका है. कावंड यात्रा के दौरान फैसल का यह संगठन शिव भक्तो को नाश्ता कराता है तो शब-ए-बारात के दौरान हुडदंग करने वाले मुस्लिम युवको को भी समझाता भी है. नोट बंदी के दौरान मार्टिन ने काफी लोगो की मदद की है. इस दौरान मार्टिन और उसके संगठन के लोगो ने एटीएम की लाइन में लगे लोगो को पानी पिलाकर उनकी मदद की.

मार्टिन का कहना है की हम इस संगठन के जरिये अवाम को एक नई दिशा देने का प्रयास कर रहे है. क्योकि देश को आगे बढाने के लिए बहुत जरुरी है की हम उन साजिशो को जनता के सामने लाये जो हमें आपस में लड़वाने का काम करती है. अगर ऐसा नही हुआ तो हम आपस में ही लड़ते रहेंगे और कुछ लोगो के हाथो की कठपुतली बन कर रह जायेंगे. फ़िलहाल फैसल पश्चिमी यूपी में लडकियों को बचाने के लिए जागरूकता अभियान चला रहे है .

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें