Friday, August 6, 2021

 

 

 

पूर्व आरएसएस नेता बोले – आरोग्य सेतु ऐप से हो रही जासूसी, केंद्र को भेजा नोटिस

- Advertisement -
- Advertisement -

Aarogya Setu ऐप को लेकर पहले ही बवाल मचा हुआ है। अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व विचारक केएन गोविंदाचार्य ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि इस एप से जासूसी हो रही है। इस सबंध में उन्होने केंद्र सरकार को नोटिस भी भेजा है।

गोविंदाचार्य ने अपने वकील विराग गुप्ता के माध्यम से, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) की प्रमुख नीता वर्मा को नोटिस भेजा, जो सरकार की आईटी सेल का नेतृत्व करती हैं। नोटिस में सरकार पर आरोप लगाया गया है कि भारतीयों के डेटा को विदेशी प्रौद्योगिकी दिग्गजों द्वारा एक्सेस किया जा सकता है। इसके अलावा जैसा कि यह ब्लूटूथ और स्थान डेटा का उपयोग करता है ऐसे में टेलीकॉम कंपनिया भी  यूजर्स की जरूरी सूचनाओं में सेंध लगा सकती है। साथ ही सेल फोन निर्माताओं द्वारा  भी सूचना का एक्सेस किए जाने का खतरा है।

नोटिस में कहा गया है कि  जब सरकार इस ऐप को सभी को डाउनलोड करने के लिए अनिवार्य कर रही है तो फिर अगर इस ऐप के जरिए निजता के संबंध में कोई भी चूक होती है तो सरकार को इसके लिए जवाबदेह होना चाहिए।

बता दें कि हाल ही में फ्रांस के एक हैकर और साइबर सिक्योरिटी एक्सपर्ट इलियट एल्डर्सन ने दावा किया था कि आरोग्य सेतु एप की सुरक्षा में खामियां हैं, वहीं अब इलियट एल्डर्सन ने आरोग्य सेतु एप को हैक करने का दावा किया है। एल्डर्सन ने ट्वीट करके दावा किया है कि प्रधानमंत्री कार्यालय में पांच लोगों की तबीयत ठीक नहीं है।

इलियट एल्डर्सन ने ट्वीट करके कहा है कि आरोग्य सेतु एप एक ओपन सोर्स एप है। उन्होंने यह भी दावा किया है कि पीएमओ ऑफिस में पांच लोगों की तबीयत खराब है और यह जानकारी उन्हें आरोग्य सेतु एप से ही मिली है। एल्डर्सन ने यह भी दावा किया है कि भारतीय सेना के मुख्यालय में 2 लोग अस्वस्थ हैं, संसद में एक आदमी कोरोना से संक्रमित है और गृह मंत्रालय में तीन लोग संक्रमित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles