तिरुवंतपुरम | केरल में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी और आरएसएस के बीच जबरदस्त संघर्ष चल रहा है. कई बार यह संघर्ष हिंसक भी हो चूका है जिसकी वजह से दोनों ही तरफ के काफी कार्यकर्ता घायल भी हो चुके है. इसके अलावा जुबानी जंग तो लगातार जारी है. लेकिन इस बार केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने आरएसएस पर जबरदस्त प्रहार किया है.

उन्होंने आरएसएस पर सम्प्रदायिक तनाव फ़ैलाने और बच्चो को हिंसा का पाठ पढ़ाने जैसे संगीन आरोप लगाये है. विधानसभा में एक सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री विजयन ने कहा की संघ अपनी विचारधारा के मुताबिक बच्चो को हिंसक बनाने पर तुली हुई है. वो बच्चो को हत्या करने की ट्रेनिंग दे रही है. जिससे समाज में हिंसा के सहारे सम्प्रदायिक तनाव फैलाया जा सके.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विजयन ने ये सभी बाते विधायक जॉन फर्नांडिस के सवालों का जवाब देते हुए कही. विजयन ने कहा की संघ का एकमात्र एजेंडा राज्य में साम्प्रदायिक तनाव फैलाना है. उन्होंने आरोप लगाया की कसारगोडे में मदरसे के अन्दर घुसकर की गयी मौलवी की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ था. यही नही थालसिरी जगन्नाथ मंदिर में फैली हिंसा के लिए भी आरएसएस जिम्मेदार है.

उन्होंने संगीन आरोप लगाते हुए कहा की यह सब आरएसएस की सोची समझी साजिश का नतीजा है. वो समाज में सम्प्रदायिकता का जहर घोलकर उसको बाँटना चाहते है. हमारी जांच रिपोर्ट में खुलासा हुआ है की कसारगोडे में हुई मौलवी की हत्या इसी साम्प्रदायिक तनाव का नतीजा थी जिसमे एक अनजान शख्स ने मस्जिद में घुसकर मौलवी की गला रेतकर हत्या कर दी थी. आरएसएस का यह एजेंडा समाज के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रहा है.

Loading...