in car

 

नई in carदिल्ली | दिल्ली में कानून व्यवस्था कितनी दुरुस्त है इसकी एक बानगी गुरुवार को तब देखने को मिली जब दिल्ली सचिवालय के पास से मुख्यमंत्री की पुरानी कार चोरी हो गयी. यह इसलिए भी हैरान कर देने वाली खबर है क्योकि जहाँ से यह कर चोरी हुई वहां से केवल 500 मीटर की दूरी पर पुलिस का हेड क्वार्टर है. इसके अलावा सचिवालय की सुरक्षा के लिए भी काफी पुलिस कर्मी यहाँ तैनात रहते है.

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार दोपहर एक बजे के करीब मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की मशहूर नीली वैगन कार चोरी हो गयी. हालाँकि इस कार को फ़िलहाल केजरीवाल इस्तेमाल नही कर रहे है लेकिन उनके शुरुआती राजनीतिक सफ़र में इसी कार ने उनका खूब साथ दिया. यह कार तब ज्यादा सुर्खियों में आई जब केजरीवाल ने मुख्यमंत्री बनने के बाद भी इसी कार को इस्तेमाल करने का फैसला किया.

इसके अलावा दिल्ली पुलिस के खिलाफ धरना प्रदर्शन के समय केजरीवाल ने इसी कार में सोकर अपनी रात गुजारी. यही नही 28 दिसम्बर 2013 को पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री की शपथ लेने भी केजरीवाल इसी गाड़ी में गए थे. फ़िलहाल यह गाडी काफी ख़राब रहने लगी थी इसलिए केजरीवाल ने इस गाडी को पार्टी के कार्यकर्ताओ को सौप दिया. केजरीवाल को यह गाडी एक सॉफ्टवेर इंजिनियर कुंदन शर्मा गिफ्ट की थी.

फ़िलहाल यह गाड़ी पार्टी की यूथ विंग की इंचार्ज वंदना सिंह इस्तेमाल कर रही थी. उन्होंने गुरुवार को करीब पौने बारह बजे यह गाडी सचिवालय के पास पार्क की. लेकिन जब वह ढाई बजे लौटी तो उन्हें गाडी वहां नही मिली. सचिवालय के पास लगे सीसीटीवी से पता चला की दोपहर एक बजे के करीब कुछ लोगो ने गाड़ी को चोरी कर लिया. फ़िलहाल पुलिस मामले की तफतीश कर गाडी को बरामद करने की कोशिश कर रही है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?