kathua culprits minister lal singh.jpg.image.784.410

जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। ये खुलासा आठ आरोपियों में से एक नाबालिग आरोपी को लेकर हुआ है। मेडिकल रिपोर्ट में उसकी उम्र 20 साल से अधिक आई है।

सरकारी वकील जेके चोपड़ा ने बताया कि सोमवार को पठानकोट जिला एवं सत्र न्यायालय में यह मेडिकल रिपोर्ट पेश की गई, जिसमें नाबालिग बताए जा रहे आरोपी की उम्र 20 वर्ष से अधिक बताई गई है।

उन्होंने बताया कि रिपोर्ट सौंप दी गई है और इस पर आखिरी दलील मंगलवार को पूरी होने की उम्मीद है, जिसके बाद न्यायाधीश फैसला सुनाएंगे। बता दें कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश तजविंदर सिंह ने क्राइम ब्रांच को परवेश कुमार उर्फ मन्नू की की उम्र पता करने के लिए अपराध शाखा को हड्डियों वाला विशेष टेस्ट कराने का निर्देश दिया था।

kathua protest mehbooba mufti 650x400 51518784914
कठुआ रेप मामले के समर्थन में प्रदर्शन करते लोग

अदालत ने इस टेस्ट का आदेश इसलिए दिया था क्योंकि बचाव पक्ष के वकील ने मन्नू के मैट्रिक प्रमाण पत्र का हवाला देते हुए उसे नाबालिग के तौर पर गिने जाने का आग्रह किया था। इसके बाद रेडियोलॉजी विभाग समेत विभिन्न विभागों के डॉक्टर की एक टीम गठित की गयी थी और आरोपी की जांच पिछले महीने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरके जल्ला की देखरेख में की गई थी।

इससे पहले आरोपी समर्थक गवाहों ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष मामले की जांच कर रही एसआईटी पर उनका उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था और उसकी स्वतंत्र जांच की मांग की थी। जिस पर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने गवाहों के आरोपों की जांच का आदेश देने से मना कर दिया।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?