Saturday, November 27, 2021

कठुआ रेप केस में थर्ड ओपिनियन पैदा करने की कोशिश की जा रही: एडवोकेट दीपिका सिंह

- Advertisement -

जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले के सभी आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बुधवार को सुरक्षा बंदोबस्त के बीच कठुआ से गुरदासपुर जेल शिफ्ट कर दिया गया। उन्हें रोजाना सेशन कोर्ट में चल रही सुनवाई पर पेश करने और सुरक्षा मुहैया कराने की जिम्मेदारी एसएसपी पठानकोट की होगी।

बता दें कि चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदु मल्होत्रा की पीठ ने जम्मू कश्मीर सरकार को आदेश दिया था कि आरोपियों को कठुआ जिला जेल से गुरदासपुर स्थानांतरित किया जाए।

दरअसल, याचिकाकर्ता की ओर से पेश इंदिरा जयसिंह ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि ‘केस की पठानकोट कोर्ट में रोजाना सुनवाई होती है। आरोपियों को रोजाना कठुआ से पठानकोट कोर्ट ले जाना पड़ता है। ऐसे में आरोपियों के फरार होने की आशंका भी बनी रहेगी। बेहतर होगा कि ट्रायल के दौरान आरोपियों को पठानकोट की जेल में ट्रांसफर किया जाए।

girl rape in kathua 620x400

दूसरी और केस में सातवें गवाह का क्रास एग्जामिनेशन पूरा कर लिया गया और आठवें का क्रास एग्जामिनेशन शुरू किया गया, जोकि कल फिर से जारी रहेगा। बता दें कि इस केस में कुल 221 गवाहों के बयान दर्ज होने हैं।

पीड़ित पक्ष की और से पेश हुई वकील दीपिका सिंह राजावत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि इस मामले को लेकर समाज में थर्ड ओपिनियन पैदा करने की कोशिश की जा रही है इसलिए मीडिया को भी संजीदा होना होगा।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles