जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले के मुख्य अभियुक्त के वकील असीम साहनी को एडवोकेट जनरल के तौर पर नियुक्त किया गया है।

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने असीम साहनी का नाम राज्य के कानून विभाग द्वारा जारी की गई एडिशनल एडवोकेट जनरल, डिप्टी एडवोकेट जनरल और सरकारी वकीलों की लिस्ट मे सातवें नंबर पर दिया है।

साहनी को एडिशनल एडवोकेट जनरल नियुक्त करने पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के बेटी बचाओ, ट्रिपल तलाक और महिला अधिकार सभी वादे झूठे हैं।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से बीजेपी के समर्थन वापसी के बाद राज्य में राज्यपाल शासन लागू है। ऐसे में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन के टूटने की वजहों में से एक कठुआ रेप और हत्या कांड के मुख्य अभियुक्त के वकील की उच्च पद पर नियुक्ति चौंकाने वाली है।

उल्लेखनीय है कि 10 जनवरी 2018 को जम्मू-कश्मीर के कठुआ के रासना गाँव में 8 साल की मासूम के साथ मंदिर में सामूहिक दुष्कर्म और हत्या का मामला सामने आया था। इस मामले में देवस्थान के पुजारी, उसके लड़के, नाबालिग भतीजे, दो पुलिसकर्मी सहित 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने प्लान बनाकर पहले बच्ची का अपहरण किया, फिर देवस्थान पर ही कई दिनों तक रेप किया और अंत में उसकी हत्या कर दी।