asifaa1

कठुआ गैंग रेप मामले पुरे देशवासियों में गुस्सा है. असीफा को न्याय दिलाने के लिए आज पूरा देश एकजुट होकर उसके साथ खड़ा हुआ है. ऐसे में अब उसके असली माँ-बाप ने सामने आकर अपना दुःख जाहिर किया.

क्विंट से बातचीत में पीड़ित की मां रसिया ने बताया कि उन्होंने अपनी असीफा को एक साल का होने पर अपने भाई यूसुफ को दिया था. रसिया बताती हैं, ”कुछ महीनों के अंदर ही यूसुफ ने अपने दो बच्चे खो दिए थे और वो तनाव में रहता था. बीमार भी रहता था और ज्यादा कुछ बोलता नहीं था. बस रोता रहता था, लेकिन उसकी जिंदगी में इस बच्ची के आने से वो बदल गया.”

वहीँ उसके असली पिता मोहम्मद अख्तर कहते है कि वे और उनकी पत्नी पनी बेटी को वापस लेने आ रहे थे. उन्होंने यूसुफ को फोन भी किया था कि बच्ची को लेने आएंगे. लेकिन कुछ दिन बाद यूसुफ ने अख्तर को फोन किया और कहा कि आप बच्ची को लेने आने वाले थे, लेकिन चुपचाप ही ले गए?

asifa

अख्तर ने बताया कि मैंने उन्हें कहा कि मैं अपनी बेटी को चुपचाप क्यों ले जांऊगा? मैं खुल्लेआम ले जांऊगा. वो कहां है? तुम उसे क्यों नहीं ढूंढ सकते?  अख्तर और रसिया को 12 जनवरी को पता चला कि वो दो दिन से लापता है. खबर सुनते ही दोनों तुरंत कठुआ की ओर रवाना हो गए.

अख्तर ने कहा, वो एक मंदिर में थी. इसकी बिल्कुल भी संभावना नहीं थी. ये पूजा करने की जगह है. क्या आप किसी बच्चे को जिंदा या मुर्दा यहां छिपाने के बारे में सोच सकते हो? इस घटना के बाद अख्तर को डर सता रहा है कि कहीं उनके मां-बाप को न मार दिया जाए.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें