Thursday, December 9, 2021

सुप्रीम कोर्ट का आदेश – कठुआ रेप केस के आरोपी गुरदासपुर जेल होंगे ट्रांसफर

- Advertisement -

जम्‍मू-कश्‍मीर के कठुआ में आठ साल की बच्‍ची के साथ मंदिर में सामूहिक बलात्कार और हत्या के मामले के सभी आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब की गुरदासपुर जेल में स्थानांतरित करने का आदेश दिया है।

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ और जस्टिस इंदु मल्होत्रा की पीठ ने जम्मू कश्मीर सरकार को आदेश देते हुए कहा कि आरोपियों को कठुआ जिला जेल से गुरदासपुर स्थानांतरित किया जाए। साथ ही पुलिस को आठ सप्ताह के भीतर इस मामले में पूरक आरोप पत्र दायर करने का निर्देश भी दिया।

शीर्ष अदालत ने इस मामले में निचली अदालत के आदेश से असंतुष्ट पक्षों को पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में याचिका दायर करने की छूट दी। इसके अलावा पंजाब सरकार ट्रायल जज और वकीलों को सुरक्षा प्रदान करेगी जबकि जम्मू कश्मीर सरकार आरोपियों को सुरक्षा देगी। आरोपी के घरवालों को गुरदासपुर में मिलने का खर्च जम्मू-कश्मीर सरकार देगी।

kathua culprits minister lal singh.jpg.image.784.410

याचिकाकर्ता की ओर से पेश इंदिरा जयसिंह ने कहा कि ‘केस की पठानकोट कोर्ट में रोजाना सुनवाई होती है। आरोपियों को रोजाना कठुआ से पठानकोट कोर्ट ले जाना पड़ता है। ऐसे में आरोपियों के फरार होने की आशंका भी बनी रहेगी। बेहतर होगा कि ट्रायल के दौरान आरोपियों को पठानकोट की जेल में ट्रांसफर किया जाए।

वरिष्ठ वकील शेखर नफाडे और स्थायी वकील शोएब आलम ने आरोप लगाया कि आरोपियों की ओर से भारी संख्या में वकीलों की उपस्थिति से निष्पक्ष सुनवाई में बाधा आ सकती है। उन्होंने कहा कि एक बार, मामले में आरोपियों के बचाव के लिए करीब 50 वकील अदालत कक्ष में मौजूद थे।

सुप्रीम कोर्ट ने अदालत को बंद कमरे में सुनवाई करने का निर्देश दिया। जिसमें आरोपियों के वकील, विशेष लोक अभियोजक, लोक अभियोजक और अदालत के कर्मचारी ही मौजूद रहेंगे।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles