लॉक डाउन के बीच कश्मीरी मजदूरों को बैट व डंडों से पीटा, 3 आरोपी गिरफ्तार

लॉक डाउन के बीच हिमाचल प्रदेश के बरोट में कश्मीरी मजदूरों के साथ बैट व डंडों से मारपीट करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने तीन आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित संजय कुमार, अशोक कुमार व गंगाराम टिक्कन के निवासी हैं। यह तीनों गांव थुजी, डाकघर बरोट, तहसील टिक्कन जिला मंडी के रहने वाले हैं।

जानकारी के अनुसार, आरोपियों ने बरोट में रह रहे 9 कश्मीरी मजदूरों के साथ बीती रात को इनके कमरे में जाकर बैट और डंडों से बूरी तरह से मारपीट की। इस मारपीट में सभी 9 मजदूर बूरी तरह से घायल हो गए हैं। पीडि़त मजदूर मो. अकरम, मो. रफीक, मो. अदरीस, अबदुला अहमद, मनीर हुसैन, मुस्ताक अहमद, मंजूद अहमद, बारदीन और नजीर अहमद है।

पीड़ितों ने बताया कि बीती रात करीब 10.30 बजे वह खाना खाकर सो गए थे। तभी तीन लोग बैट और डंडे लेकर उनके कमरे में आए और सभी को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। पहले युवाओं को पीटा गया और उसके बाद बुजुर्गों को। अधिकतर मजदूरों को गंभीर चोटें आई हैं और फ्रेक्चर हो गया है। मजदूरों ने इन तीनों की पहचान कर ली है। लेकिन इन्हें यह नहीं समझ आ रहा कि इनके साथ किस बात को लेकर मारपीट की गई।

यह सभी मजदूर बीती नवंबर 2019 से यहां रह रहे हैं और करण कृष्ण ट्रांसमिशन के माध्यम से किए जा रहे टावर लाइन के कार्य में मजदूरी कर रहे हैं। कंपनी ने ही इन्हें यहां रहने के लिए कमरा दे रखा है। कंपनी के एमडी गौरव कृष्ण वर्मा ने बताया कि कुछ स्थानीय लोग लगातार उनके काम में बाधा पहुंचा रहे हैं और यह हरकत भी उन्होंने ही की है। इसमें इलाके की एक पंचायत प्रधान के परिजन भी शामिल हैं।

कंपनी के एमडी गौरव कृष्ण वर्मा ने बताया कि कुछ स्थानीय लोग लगातार उनके काम में बाधा पहुंचा रहे हैं और यह हरकत भी उन्होंने ही की है। इसमें इलाके की एक पंचायत प्रधान के परिजन भी शामिल हैं।

विज्ञापन