कश्मीरी पीड़ित ने बताई आपबीती, पहले आतंकी और पत्थरबाज कहा और फिर पीटने लगे

7:16 pm Published by:-Hindi News

लखनऊ के डालीगंज इलाके में दो कश्मीरी युवकों के साथ मारपीट करने के मामले मे पुलिस ने गुरुवार को चारों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। ये सभी विश्व हिंदू दल के कार्यकर्ता बताया जा रहे है। दोनों पीड़ितों में से एक का आरोप है कि घटना के वक्त भी पुलिस मौके पर पहुंची थी, लेकिन आरोपियों की बजाय उसे ही थाने ले आई थी। तब उसका दूसरा साथी डरकर घटनास्थल से भाग गया था।

पीड़ित युवक अफजल नाइक ने बताया कि मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई करने के बजाए उसे ही थाने ले आई। जबकि, आरोपी बड़े आराम से वहां से चले गए। बाद में मामले ने तूल पकड़ा तो पुलिस हरकत में आई और पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। एक आरोपी को गिरफ्तार भी किया गया है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि बजरंग सोनकर नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी आपराधिक पृष्ठभूमि का है। उसके खिलाफ हत्या समेत 12 मामले दर्ज हैं। दो अन्य आराेपी हिमांशु गर्ग और अमर कुमार को गिरफ्तार करने की कोशिश की जा रही है।

 एनडीटीवी से बातचीत में नाइक ने कहा कि भगवाधारी गुंडे उनके पास आए और उनसे आधार कार्ड मांगा फिर आतंकवादी और पत्थरबाज कह कर पीटने लगे। नाइक ने कहा कि वे आए, हमसे हमारा आधार कार्ड मांगने लगे और बोलने लगे कि तुम आतंकवादी हो, यहां सामान बेचते हो, वहां तुम पत्थर फेंकते हो। इतना बोलकर वे मारपीट करने लगे। उन्होंने हमसे आधार कार्ड मांगा। हमने आधार कार्ड दिखाया।

फिर उन्होंने कहा कि ये डुप्लीकेट है। हमने बताया कि हमारे पास ओरिजनल भी है। मगर वे सुने नहीं और मारने लगे। हालांकि, राहगीरों ने मुझे बचा लिया। आम लोगों ने मुझे बचाया। उन दोनों ने मुझे अच्छा लगा। उन्होंने कहा कि जो भी यहां है चाहे गुजरात का है, कश्मीर का है, ये पूछना पुलिस का काम है। उन्होंने हमलावरों को समझाया कि तुमलोगों का क्या काम है। ये काम पुलिस का है। स्थानीय लोगों ने पुलिस के आने के पहले ही मुझे बचा लिया।

उन लोगों ने धमकी दी कि कल से इस शहर में तुमलोग नहीं दिखने चाहिए. अगर कल से लखनऊ में दिखोगे तो हम मार देंगे। कल दिन में यहां नहीं रहना है।  आज भर रह लो। कल से किसी भी तरह शहर में नहीं दिखने चाहिए। अभी हमारे पास माल है। अभी 8-10 दिन लगेगा बेचने में. हमारा उधार भी है, मेरा कुछ पैसा भी बाकी है। हमारा पैसा हिंदू भाई और मुसलमान भाई के पास कुछ बकाया है। वो सब समेटना है। तब जाएंगे।

पुलिस की कार्रवाई से कितना संतुष्ट हैं?

मुझे पुलिस की कार्रवाई अच्छी लगी। उन लोगों ने बताया कि आप वहां दूकना लगाइए। हम तुम्हारी हिफाजत करेंगे। वो लोग कुछ नहीं करेंगे। हम कार्रवाई करेंगे।

Loading...