आजादी की 71वीं वर्षगांठ पर लालकिले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर समस्या का जिक्र करते हुए कहा कि वहां की समस्या न तो गाली देने से हल होगी और न ही गोली चलाने से। समस्या हल होगी कश्मीरियों को गले लगाने से।

उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को बख्शा नहीं जाएगा। अपने 55 मिनट के भाषण में मोदी ने नोटबंदी, आधार, सिंचाई, बिजली समेत कई मुद्दों पर बात की। उन्होंने कहा कि अगले साल इस सदी में जन्मे बच्चे 18 साल के हो जाएंगे। उन्होंने नये हो रहे युवाओं का राष्ट्र निर्माण के लिए स्वागत किया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मोदी ने कहा कि आस्था के नाम पर किसी तरह की हिंसा को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। वर्ष 2022 में नया भारत बनाने की बात करते हुए मोदी ने कहा कि अब चलता है का जमाना गया। उन्होंने कहा कि अब हो सकता है और होगा की बात होनी चाहिए। तलाक का भी मुद्दा मोदी ने उठाया और कहा कि हम महिलाओं को उनका हक देने के पक्षधर हैं।

लालकिले से अपने चौथे भाषण में मोदी आज कुछ ज्यादा ही जोशीले दिखे। उन्होंने अपने सरकार की तमाम कामों की तारीफ करते हुए कहा कि आज सडकें और रेल निर्माण दोगुनी गति से हो रहा है। मोदी ने गोरखपुर में मारे गये बच्चों के प्रति भी संवेदना प्रकट की।

Loading...