sanj

sanj

उत्तरप्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के नाम पर की गई मुस्लिम समुदाय के खिलाफ सांप्रदायिक हिंसा को लेकर आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट ने कहा कि दक्षिणपंथियों ने कासगंज से 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, काजगंज सिर्फ शुरुआत है. कम ग्रेड का सांप्रदायिक बुखार 2019 के लोकसभा चुनाव तक जारी रहेगा और फैलता रहेगा. 2019 तक काजगंज का हाल वैसा ही होगा जैसे 2014 में मुज़फ्फरनगर का हुआ था. इस बार इसी पहुँच भी व्यापक होगी और असर भी.

इसी के साथ उन्होंने सवाल उठाया कि क्या भगवा भारत का तिरंगा बन चूका है ? साथ ही उन्होंने लिखा कि दुनिया भर में नागरिक युद्ध और जनसंहार के जो बीज शुरू में बोये जाते वे सामान्य ही लगते है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?