655280 padmavati protest

655280 padmavati protest

मुंबई । संजय लीला भंसाली की फ़िल्म ‘पदमवत’ को लेकर पूरे देश में बवाल मचाने वाली करनी सेना ने अपना विरोध प्रदर्शन वापिस ले लिया है। करनी सेना ने फ़िल्म को देखने के बाद यह फ़ैसला लिया। उन्होंने फ़िल्म को राजपूतों के गौरव को प्रदर्शित करने वाला बताते हुए कहा गया कि फ़िल्म में कुछ भी आपत्तिजनक नही है इसलिए हम अपना विरोध प्रदर्शन वापिस ले रहे है।

बताते चले की ‘पद्मावत’, 25 जनवरी को रिलीज़ हुई थी। करनी सेना ने भले ही फ़िल्म का विरोध किया हो लेकिन दर्शकों ने फ़िल्म को बहुत प्यार दिया है। फ़िल्म ने दो ही हफ़्तों में 150 करोड़ का आँकड़ा पार कर लिया है। यह तब है जब फ़िल्म गुजरात, मध्य प्रदेश , राजस्थान और हरियाणा में रिलीज़ नही हुई है। करनी सेना के विरोध प्रदर्शन वापिस लेने के बाद उम्मीद है की यह फ़िल्म अब इन राज्यों में भी रिलीज़ हो सकेगी।

शुक्रवार को फ़िल्म देखने के बाद करनी सेना-महाराष्ट्र के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष योगेंद्र सिंह कटार ने एक पत्र लिखकर फ़िल्म को शानदार क़रार दिया। उन्होंने लिखा,’ उन्होंने 2 फरवरी को पद्मावत देखी है, जिसमें राजपूतों की वीरता और त्याग का बहुत सुंदर चित्रण किया गया है। यह फिल्म रानी पद्मावती की महानता को समर्पित है। इस फिल्म में रानी पद्मावती और अलाउद्दीन के बीच कोई भी सीन नहीं है। इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है जो राजपूत समाज के इतिहास और भावनाओं को नुकसान पहुंचाए।’

karni sena mos 020318111208

योगेन्द्र ने आगे लिखा,’ हम इस फिल्म से् पूर्णता संतुष्ट हैं। इसलिए हम हमारा आंदोलन/ विरोध बिना शर्त वापस लेते हैं और आपको आश्वासन देते हैं कि हम इस फिल्म को राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और भारत के सभी सिनेमा घरों में प्रदर्शित करने में आपका और फिल्म वितरकों का सहयोग करेंगे।’ हालाँकि करनी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कलवी का कहना है की यह पत्र फ़र्ज़ी करनी सेना ने लिखा है। हमारा प्रदर्शन अभी भी जारी है।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?