Tuesday, January 25, 2022

आरोपियों के पकड़े जाने पर बोला कमलेश तिवारी के बेटा – मुझे इस प्रशासन पर विश्वास नहीं, निर्दोष…..

- Advertisement -

कमलेश तिवारी मामले को उत्तर प्रदेश पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लेने का दावा करते हुए कहा कि रशीद पठान नाम का शख्स इस वारदात का मुख्य आरोपी है।  यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने शनिवार को लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। ये इनके नाम हैं – रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान है।

डीजीपी ने प्रारंभिक जांच के आधार पर बताया कि 2015 के बयान के कारण इस घटनाक्रम को अंजाम दिया गया है। इसके साथ ही इसमें किसी आतंकी संगठन की संलिप्तता के कोई सबूत अभी तक नहीं मिले हैं। डीजीपी ने कहा कि आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।

इसी बीच कमलेश तिवारी के बेटे सत्यम तिवारी ने कहा है कि उन्हें नहीं पता है कि जो लोग पकड़े गए हैं उन्हीं लोगों ने पिता को मारा है या निर्दोष लोगों को फंसाया जा रहा है। उन्होने कहा, अगर यही लोग असली दोषी हैं और इनके खिलाफ कोई वीडियो सबूत है तो इसकी जांच एनआईए (NIA) को करनी चाहिए।

सत्यम ने आगे कहा कि अगर उनकी जांच में यह साबित हो जाता है तभी वह लोग संतुष्ट होंगे। उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे इस प्रशासन पर कोई विश्वास नहीं है।’ वहीं लखनऊ डिविजन के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने कमलेश तिवारी के परिवारजनों से मिलकर उनको दिलासा दिलाई है कि उनको सुरक्षा दी जाएगी और सीएम योगी आदित्यनाथ से जल्द ही मुलाकात कराने का समय तय किया जा रहा है। साथ ही एक आवास,नौकरी की भी सिफारिश कर दी गई है। उन्होंने बताया कि बड़े बेटे को आत्मरक्षा के लिए लाइसेंसी हथियार दिया जाएगा।

बता दें कि गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने भी कहा है कि हिरासत में लिए गए सभी तीन संदिग्धों ने वारदात में शामिल होने की बात मानी है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles