dipika

जम्मू के कठुआ जिले के रासना गाँव में 8 साल की मासूम के साथ मंदिर में सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में आज पीड़ित परिवार की वकील एडवोकेट दीपिका सिंह रजावत ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से मुलाकात की.

सुबह 11 बजे शुरू हुई दोनों के बीच यह मुलाकात करीब पौने घंटे तक चली. रजावत ने बताया कि उनकी मीटिंग मुख्यमंत्री के साथ काफी समय से लंबित थी. मंगलवार को उन्होंने समय दिया, तो मुलाकात हुई. इस दौैरान कुछ निजी मामलों पर बातचीत हुई.

हालांकि उन्होंने कहा कि रसाना केस को लेकर कुछ मीडिया ने उन्हें राष्ट्र विरोधी बताया, जबकि मामला एक मासूम लड़की से बलात्कार और हत्या का है, अब क्राइम ब्रांच ने केस का चालान पेश कर दिया है, तो कोर्ट में अब फैसला होगा. कोर्ट पर उन्हें पूरा विश्वास है, जो आरोपी होगा. उसे सजा मिलेगी और जो निर्दोष होगा वह बरी होगा.

बता दें कि मामले के मास्टरमाइंड सांझी राम ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. उसने बच्ची की हत्या बलात्कार में शामिल अपने बेटे को बचाने के लिए की थी. सांझी राम ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसे बच्ची के अपहरण के चार दिन बाद उससे बलात्कार होने की बात पता चली और बलात्कार में अपने बेटे के भी शामिल होने का पता चलने पर उसने बच्ची की हत्या करने का फैसला किया.

जांचकर्ताओं के अनुसार, 10 जनवरी को बच्ची से उसी दिन सबसे पहले सांझी राम के नाबालिग भतीजे ने बलात्कार किया था. सांझी राम को इस घटना की जानकारी 13 जनवरी को मिली जब उसके भतीजे ने अपना गुनाह कबूल किया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?