prashant_bhushan_1658659f

नई दिल्ली | जाने माने वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में एक ऐसी बात कही जिससे अगले मुख्य न्यायधीश तिलमिला उठे. प्रधानमंत्री मोदी के रिश्वत लेने सम्बन्धी एक याचिका पर सुनवाई के दौरान प्रशांत भूषण ने अगले मुख्य न्यायधीश जेएस खेहर से कहा की आप इस केस से खुद को अलग कर लो. प्रशांत भूषण की इस टिप्पणी से आहात हुए जेएस खेहर ने कहा की आप यह बात मुझे पहले भी बोल सकते थे, अब यह मुद्दा क्यों उठाया जा रहा है.

दरअसल प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ एक याचिका डाली हुई है. प्रशांत भूषण ने मोदी पर सहारा और बिडला से रिश्वत लेने का आरोप लगाया है. इस मामले में पहले भी दो बार सुनवाई हो चुकी है. पहले हो चुकी सुनवाई में कोर्ट ने प्रशांत को और विश्वसनीय सबूत इकठ्ठा करने के लिए कहा था. शुक्रवार को जस्टिस खेहर और जस्टिस अरुण मिश्रा की पीठ ने इस मामले की सुनवाई की.

सुनवाई के दौरान प्रशांत भूषण ने कोर्ट से कहा की मुझे और विश्वसनीय सबूत इकठ्ठा करने के लिए कुछ समय और चाहिए. प्रशांत भूषण की इस मांग को अदालत ने ठुकरा दिया. कोर्ट के रुख से परेशान हुए प्रशांत भूषण ने जस्टिस खेहर से कहा की आप इस केस से अपने आप को अलग कर लीजिये. चूँकि आपकी नियुक्ति की फाइल प्रधानमंत्री मोदी के पास क्लियर होने के लिए गयी है इसलिए आपको इससे अलग हो जाना चाहिए.

प्रशांत भूषण की इस टिप्पणी से तिलमिलाए जस्टिस जेएस खेहर ने कहा की आप यह बात अभी क्यों कह रहो हो. इससे पहले दो बार मामले की सुनवाई हो चुकी है. आप तब भी मुझे यह बोल सकते थे. अब आप यह मुद्दा क्यों उठा रहे हो. इसके बाद जस्टिस खेहर ने सुनवाई से अलग होने की पेशकश की. हालांकि प्रशांत भूषण ने कहा की मुझे कोई परेशानी नही होगी की आप मामले की सुनवाई करे. उधर जस्टिस अरुण मिश्रा ने इसे कोर्ट की अवमानना मानते हुए कहा की आप इन मुद्दों को उठाकर कोर्ट को दबाव में नही ला सकते.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें