कश्मीरी पत्रकारों के एक समूह ने कश्मीर में 100 दिनों से इंटरनेट पर पाबंदी के खिलाफ मंगलवार को श्रीनगर के प्रेस क्लब में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान पत्रकार अपने लैपटॉप को हाथों में पकड़े थे और तख्तियां ले गए थे, जिसमें लिखा था: “100 दिन, इंटरनेट नहीं”।

एक स्वतंत्र पत्रकार माजिद मकबूल ने आईएएनएस को बताया, यह सबसे खराब स्थिति है जब पत्रकारों को कश्मीर में सामना करना पड़ रहा है। यह बहुत अपमानजनक है। यह एक युद्ध जैसी स्थिति में भी नहीं होता है।”

श्रीनगर के एक पत्रकार आकाश हसन ने कहा कि “हम कुछ भी नहीं पूछ रहे हैं। इंटरनेट पर मांग करना हमारा मूल अधिकार है।” बता दें कि 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया था।

सरकार ने पत्रकारों को अपनी रिपोर्ट दर्ज करने में मदद करने के लिए एक मीडिया केंद्र की स्थापना की है, लेकिन पत्रकार अनहोनी में रिपोर्टिंग के लिए हाई-स्पीड ब्रॉडबैंड की बहाली की मांग कर रहे हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन