Tuesday, May 18, 2021

जेएनयू विवाद: खालिद के समर्थन में आया टीचर्स असोसिएशन, कहा-राजद्रोह का मामला हटे, कैंपस में न घुसे पुलिस

- Advertisement -
- Advertisement -

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी टीचर्स असोसिएशन ने सोमवार को मांग की कि वाइस चांसलर को दिल्‍ली पुलिस को कैंपस में घुसने की इजाजत नहीं देनी चाहिए। साथ में यह भी कहा कि उमर खालिद समेत जिन अन्‍य लोगों पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है, उन्‍हें तत्‍काल हटाया जाना चाहिए। मीडिया से बातचीत करते हुए JNUTA के प्रतिनिधि ने कहा कि कानूनी जानकारों के मुताबिक, राजद्रोह और आपराधिक साजिश के मामले इतनी जल्‍दबाजी में नहीं लगाए जाने चाहिए। खास तौर पर छेड़छाड़ किए गए वीडियोज के आधार पर तो बिलकुल नहीं। असोसिएशन ने कुलपति से मांग की कि आंतरिक कमेटी का फिर से गठन होना चाहिए क्‍योंकि पूरी प्रक्रिया संदेह के घेरे में है। असोसिएशन के मुताबिक, ”सकारात्‍मक माहौल बनाया जाना चाहिए ताकि स्‍टूडेंट्स कमेटी के सामने जांच के लिए पेश हो सकें। ऐसा न हो कि गेट पर पुलिस खड़ी हो और अंदर आने की धमकी दे रही हो।”

वहीं, छात्रसंघ उपाध्‍यक्ष शेहला राशिद ने कहा कि अभी इस तरह की कोई जानकारी नहीं है कि अधिकारी छात्रसंघ पदाधिकारियों से मिलना चाहते हैं। पुलिस कैंपस के अंदर घुसे की नहीं, इस बात का फैसला वाइस चांसलर को करना है। उन्‍होंने कहा, ”जेएनयू के छात्रों के खिलाफ आरोप बेबुनियाद हैं। गिरफ्तारी की कोई जरूरत नहीं है। वाइस चांसलर को यह मांग करनी चाहिए कि राजद्रोह समेत सभी मामले इन लोगों पर से हटाए जाने चाहिए। पुलिस को कैंपस में आने की जरूरत नहीं है। इससे केवल यूनिवर्सिटी का पढ़ाई का माहौल खराब होगा।” हालांकि, स्‍टूडेंट्स का कहना है कि वे गिरफ्तारी का विरोध नहीं करेंगे।

एबीवीपी ने लगाया आरोप: छात्र संगठन एबीवीपी ने आरोप लगाया कि वामपंथी पार्टियां और यूनिवर्सिटी के टीचर आरोपी छात्रों की मदद कर रहे हैं। संगठन के मुताबिक, वापस लौटने के बाद आरोपी छात्रों से परिसर में दोबारा से आपत्‍त‍िजनक भाषण दिया और कैंपस का माहौल खराब कर रहे हैं।

बहस को तैयार सरकार: केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सोमवार को कहा कि सरकार को जेएनयू, हैदराबाद यूनिवर्सिटी या किसी दूसरे मुद्दे पर चर्चा से कोई संकोच नहीं है। उन्‍होंने कहा, ”हम चाहते हैं कि जेएनयू मामले पर विस्तृत चर्चा हो। लोगों को यह पता होना चाहिए कि असल में यहां क्‍या हुआ था? इसके क्‍या कारण थे और घटना का क्‍या असर हो सकता है? ”

पुलिस ने कहा, कैंपस में घुसकर गिरफ्तारी के विकल्‍प खुले: पुलिस कमिश्‍नर बीएस बस्‍सी ने छात्रों से अपील की कि वे पुलिस को जांच में सहयोग करें। बस्‍सी ने इशारों में ही कहा कि उनके पास कैंपस में घुसकर गिरफ्तारी समेत सभी विकल्‍प खुले हुए हैं। बस्‍सी के मुताबिक, उन्‍हें पूरा भरोसा है कि उनकी पुलिस टीम इस मामले को निपटाने में पूरी तरह समर्थ है। (Jansatta)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles