नई दिल्ली: जेएनयू छात्र उमर खालिद पिछले 11 दिनों से लगातार भूख हड़ताल कर रहे थे. उनके शरीर में शुगर, सोडियम और पोटेशियम के स्तर में काफी गिरावट आ गई थी. जिसके कारण उन्हें आज एम्स ले जाया गया.

जेएनयू में हुए 9 फरवरी के विवादित कार्यक्रम में शामिल रहने पर उमर खालिद विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक सेमेस्टर के लिए निष्कासित कर दिया था. 11 दिनों की हड़ताल के बाद स्वास्थ्य कारणों से मजबूर होकर उमर खालिद को भूख हड़ताल समाप्त करनी पड़ी.

उमर खालिद के भूख हड़ताल ख़त्म करने के बाद भी 13 अन्य छात्र अभी भी भूख हड़ताल पर हैं.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें