Tuesday, September 28, 2021

 

 

 

सरकार जेएनयू में 3000 इस्तेमाल कॉन्डोम का पता लगा सकती लेकिन नजीब का नहीं: कन्‍हैया कुमार

- Advertisement -
- Advertisement -

502507-pti-kanhaiya-kumar-22

जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय से 24 दिनों से लापता हुए छात्र नजीब अहमद की गुमुशुदगी को लेकर पूर्व छात्र नेता कन्‍हैया कुमार ने केंद्र सरकार को इस पुरे मामले में आड़े हाथों लेते हुए जिम्मेदार ठहराया हैं.

उन्होंने बीजेपी विधायक ज्ञानदेव आहूजा के बयान का सहारा लेते हुए केंद्र की बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ‘उनके पास तो इतनी खुफिया जानकारी थी कि उन्‍होंने जेएनयू में इस्‍तेमाल हुए कॉन्‍डोम की गिनती तक कर ली थी, लेकिन क्‍या वे अपने उस खुफिया तंत्र का इस्‍तेमाल ये पता लगाने में नहीं कर सकते कि इतने दिनों से लापता नजीब आखिर है कहां. कन्‍हैया कुमार ने अपनी पुस्‍तक ‘फ्रॉम बिहार टू तिहाड़’ के विमोचन के मौके पर बोल रहें थे.

राजस्थान से विधायक आहूजा विवादित बयानों के लिए जाने जाते हैं. फरवरी में उन्होंने जेएनयू यूनिवर्सिटी की आलोचना करते हुए कहा था कि ”जेएनयू में रोजाना 3000 बीयर के केन, 2000 शराब की बोतलें, 10 हजार सिगरेट के टुकड़े, 4 हजार बीड़ी, 50 हजार हड्डियों के टुकड़े, 2 हजार चिप्स के पैकेट, 3 हजार उपयोग किए गए कंडोम और 500 गर्भपात के इंजेक्शन मिलते हैं.”

इसके अलावा कन्‍हैया ने बीबीसी हिंदी को दिए एक इंटरव्यू में नजीब को लेकर पूछे गये सवाल को लेकर कहा कि इस मामले में वाइस चांसलरको कड़े निर्देश देने की जरूरत थी. उन्होंने कहा, कड़े निर्देश से मेरा मतलब ये है कि आज अगर मुझे कुछ हो जाता है तो जब तक मेरे परिवार वाले नहीं आ जाते, तब तक ये ज़िम्मेदारी वाइस चांसलर की है. अगर एक बच्चा गायब हो रहा है तो ये आपकी नैतिक जिम्मेदारी है कि आप बच्चे का ख्याल रखें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles