Friday, September 24, 2021

 

 

 

J&K: पुलिस ने की महिला पत्रकार से बदसलूकी, दी गंदी-गंदी गालियां

- Advertisement -
- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में रविवार को एक राष्ट्रीय दैनिक अखबार की महिला पत्रकार के साथ पुलिस के हाथों बदसलूकी का मामला सामने आया है।

 चंडीगढ़ स्थित द ट्रिब्यून की संवाददाता रिफत मोहिदीन ने कहा कि लगभग आधा दर्जन पुलिसकर्मियों ने उनकी कार पर ‘कई मिनट’ तक लाठियां बरसाईं। इस दौरान वह कार के अंदर बैठी रो रहीं थीं। हालांकि इस दौरान उन्होंने हिम्मत करके पुलिसकर्मियों से कहा कि वो उनके प्रति इस तरह का व्यवहार ना करें।

रिफत ने अंग्रेजी अखबार द टेलीग्राफ को बताया, ‘मैंने पहले कभी इस तरह की गालियां नहीं सुनी जो उन्होंने मुझे कहीं। उन्होंने मेरी कार पर डंडे बरसाए। हालांकि शीशों को नुकसान नहीं पहुंचाया गया। मैं रोने लगी मगर कोई मुझे बचाने नहीं आया।’ उन्होंने कहा कि मैं अभी तक सदमे में हूं। अगर मैं अपने परिवार को इस घटना के बारे में बताऊं तो वह मुझे पत्रकारिता करने की अनुमति नहीं देंगे।

Symbolic

पत्रकारों ने सरकारी मीडिया सेंटर में पत्रकारों के घाटी समुदाय को आधिकारिक तौर पर आवंटित किए गए सेलफोन से पुलिस और सूचना विभाग को फोन करने की कोशिश की, लेकिन इस मामले में उनकी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी। हालांकि श्रीनगर के पुलिस चीफ हसीब मुगल ने एक टेक्स्ट मैसेज का जवाब जरूर दिया।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त होने के बाद घाटी में पत्रकारों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। घाटी में कई पत्रकारों को अभी तक ‘कर्फ्यू पास’ नहीं मिले हैं। इन्हें इंटरनेट और मोबाइल सुविधाओं का उपयोग करने के लिए मीडिया सेंटर की कतारों में घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। घाटी में दर्जनों महिला पत्रकार ऐसी हैं जिन्हें अपने पुरुष सहयोगियों के समान ही चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles