Friday, July 30, 2021

 

 

 

मुंबई में जिन्ना हाउस अब बनेगा इंटरनैशनल सेंटर, विदेश मंत्रालय की होगी संपत्ति

- Advertisement -
- Advertisement -

मुंबई की चर्चित इमारत ‘जिन्ना हाउस’ अब अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि मंडलों के साथ बैठकों के काम आएगा। दरअसल, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जानकारी दी है कि उनका मंत्रालय पाकिस्तान के संस्थापक मुहम्मद अली जिन्ना के समुद्र किनारे स्थित बंगले को अपने नाम हस्तांतरित कराने की प्रक्रिया में है। फिलहाल जिन्ना हाऊस भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) की संपत्ति है।

महाराष्ट्र से आने वाले भाजपा के एक विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा को भेजे एक पत्र में सुषमा ने कहा है कि उनका मंत्रालय दिल्ली के हैदराबाद हाउस की तर्ज पर इस बंगले का भी नवीनीकरण कराएगा। लोढ़ा ने पांच अक्टूबर को सुषमा स्वराज को एक पत्र लिखकर अनुरोध किया था कि जिन्ना हाउस को सांस्कृतिक केंद्र बनाया जाना चाहिए।

सुषमा स्वराज ने विधायक लोढ़ा के लिखे पत्र में जानकारी दी है कि नई दिल्ली स्थित हैदराबाद हाऊस में उपलब्ध सुविधाओं की तरह जिन्ना हाऊस को विकसित कर उसे नवीन स्वरूप देने और उसकी पुनर्रचना करने का निर्देश प्रधान मंत्री कार्यालय (पीएमओ) से उन्हें मिला है। साथ ही जिन्ना हाउस का हस्तान्तरण विदेशमंत्रालय को करने की स्वीकृति भी प्रधानमंत्री कार्यालय ने दे दी है।

jinna

लोढ़ा ने बुधवार को पीटीआई से कहा कि इस घटनाक्रम से बंगले के स्वामित्व को लेकर पैदा विवाद समाप्त हो जाएगा। पाकिस्तान ने हाल के वर्षों में मांग की थी कि संपत्ति उसके मुंबई स्थित वाणिज्य दूतावास को सौंप दी जाए। उल्लेखनीय है कि लोढ़ा ने एक बार मांग की थी कि ढांचे को गिरा दिया जाए क्योंकि यह ‘‘विभाजन का प्रतीक’’ है।

बता दें पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना ने 1936 में इस घर का निर्माण कराया था। उस वक्त इसके निर्माण पर 2 लाख रुपए खर्च हुए थे। जिन्ना इस बंगल में भारत के बंटवार तक रहे जिसके बाद वह पाकिस्तान चले गए। यह बंगला मुंबई के मालाबार हिल इलाके में स्थित है और इसके पास ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का निवास है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles