गोरखपुर | उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद दावे किये जा रहे है की कानून व्यवस्था को सुधरने के पूरे प्रयास किये जा रहे है लेकिन हाल की कुछ घटनाओं से पता चलता है की अभी भी बदमाश बेलगाम घूम रहे है. रविवार को योगी के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में कुछ बदमाशो ने एक व्यक्ति को गाडी में बांधकर जिन्दा जला दिया. व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गयी.

मिली जानकारी के अनुसार गोरखपुर के घंटाघर की हरिवंश गली में रहने वाले गोविन्द अग्रवाल के एकलौते बेटे नितिन अग्रवाल को कुछ बदमाशो ने उन्ही के गाडी के अन्दर बांधकर आग लगा दी. जिसकी वजह से उनकी मौके पर ही मौत हो गयी. यह वारदात तेनुआ टोल प्लाजा से करीब 300 मीटर पहले अंजाम दी गयी. फॉर लेन होने के बावजूद किसी ने भी बदमाशो को गाडी को लगाते हुए नही देखा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रत्यक्षदर्शियो के अनुसार रविवार दोपहर 12 बजे एक स्विफ्ट गाडी बाघागाड़ा की और से आ रही थी. लेकिन वो टोल प्लाजा से 300 मीटर की दूरी पर रुक गयी. थोड़ी देर बाद लोगो ने गाडी से धुंवा उठता देख तो सब गाडी की और दौड़े. वहां से गुजर रहे राहगीरों ने टोल कर्मियों को इसकी जानकारी दी तो थोड़ी ही देर में वहां फायर ब्रिगेड की गाडी पहुँच गयी. आग बुझाने के बाद उन्होंने गाडी का शीशा तोडा तो सब भौचक्के रह गए.

गाडी के अन्दर एक व्यक्ति की लाश पड़ी तो पूरी जल चुकी थी. गाडी के नम्बर से शख्स की पहचान की गयी. दमकल कर्मियों को गाडी के अन्दर से माचिस, करीब 200 मिली लीटर पेट्रोल, सोने की चैन, तीन सोने की अंगूठी और करीब एक लाख रूपए कैश मिले. इससे साबित होता है की बदमाश लूट के मकसद से नही बल्कि हत्या करने के लिए ही आये थे.

शाम को नितिन के पिता ने थाने में तहरीर देकर हत्या का मामला दर्ज कराया. नितिन के दो बच्चे है जिनमे एक तीन माह की बेटी और बेटा है. नितिन की घंटाघर के पास सर्राफे की दुकान थी. इसके अलावा वो प्रॉपर्टी का भी काम करते थे. उनके परिजनो ने बताया की रविवार को नितिन थोडा गुस्से में घर से बाहर निकले थे और उन्होंने कहा था की मुझे तलाश मत करना. पुलिस के अनुसार परिवार में संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था.

Loading...