पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) एक बार फिर से करोड़ो का घोटाला सामने आया है. जमशेदपुर की बिष्टुपुर और मानगो शाखा ने चार कंपनियों को फर्जी कागजों पर 4.45 करोड़ रुपए का लोन दे दिया.

इस मामले में पुलिस ने पीएनबी बिष्टुपुर की चीफ मैनेजर प्रीति झा की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की है. आरोप है कि इन कंपनियों ने उन जमीनों के कागजात बैंक को सौंपे, जो कृषि भूमि थी और बंधक नहीं रखी जा सकती थी. दावा किया गया था कि जमीनें शहर के बीचोंबीच मार्केट एरिया में है. इसमें बैंक द्वारा प्रतिनियुक्त वैल्युअर और वकीलों ने भी मदद की.

बैंक ने जिन तीन वकीलों को इन जमीनों की टाइटिल डीड की छानबीन कर रिपोर्ट सौंपने की जिम्मेदारी दी, उन्होंने भी जान-बूझकर गलत रिपोर्ट दी. जिन वैल्युअरों को जमीन की वास्तविक कीमत जांचने का काम सौंपा, उन्होंने भी वकीलों की रिपोर्ट को सही बताते हुए जमीन को शहर के मार्केट एरिया में बता दिया. इस अाधार पर बैंक ने कंपनियों को 4.45 करोड़ का लोन दे दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

pnb

प्राथमिकी में बनाए गए आरोपी –

* मेसर्स जायका रेस्टोरेंट, संचालक – हरजीत सिंह, कालीमाटी रोड, साकची
* मेसर्स सतगुरू लॉजिस्टिक, संचालक – हरजीत सिंह
* हरजीत सिंह, टेल्को
* नियोल नवनीत, डिमना, मानगो
* सुधीर कुमार पांडेय, साकची
* कैलाश कुअग्रवाल, गोलमुरी
* सिद्धार्थ शंकर दूबे, रामदेव बागान, गोलमुरी
* मुकेश अग्रवाल, रांची
* हुसैन खाम, आजादनगर, मानगो
* दीपेश कुमार सेन, प्रमथनगर, परसुडीह
* चंदन घोष, परसुडीह
* वन बिहारी महतो, काशीपुर, सरायकेला
* उचल बिहारी महतो, काशीपुर, सरायकेला
* कुलवंत सिंह, जुगसलाई
और अन्य.

Loading...