Sunday, January 23, 2022

इजरायल के कार्यक्रम का विरोध कर रहे जामिया के छात्रों की पिटाई

- Advertisement -

जामिया मिलिया इस्लामिया में इजरायल एक कार्यक्रम के विरोध में पिछले नौ दिनों से हड़ताल पर बैठे छात्रो की पिटाई का मामला सामने आया है। इससे पहले अनुशासनहीनता के आरोप में यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पांच छात्रों को कारण बताओ नोटिस भी भेजा है।

हालांकि छात्रों ने जवाब देने की बजाय नोटिस की कॉपियों को जलाया और अनुशासन समिति का बहिष्कार भी किया, जहां उन्हें अपना पक्ष रखने का मौका दिया गया था। इसके अलावा छात्रों ने आरोप लगाया कि प्रशासन की तरफ से भेजे गए गुंडों ने उनसे मारपीट की। इससे कई छात्रों को गंभीर चोटें आईं। घायलों को होली फैमिली अस्पताल में भर्ती कराया गया।

साउथ ईस्ट दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि जामिया यूनिवर्सिटी के कुछ छात्रों ने शिकायत दर्ज कराई है। छात्रों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन के कहने पर मंगलवार को कुछ लोगों ने उन पर हमला किया था। 5 छात्रों को यूनिवर्सिटी की ओर से नोटिस जारी किए जाने के विरोध में वे यह प्रदर्शन कर रहे थे। घटना से माहौल में पैदा हुए तनाव को देखते हुए पुलिस बल ने परिसर को अपने कंट्रोल में ले लिया।

इस पूरे मामले पर जामिया मिल्लिया इस्लामिया के प्रशासन का कहना है कि मंगलवार को यूनिवर्सिटी के इंग्लिश विभाग में महात्मा गांधी पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया था, वहां पर आए लोग जब वापस जा रहे थे तो प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने उनका रास्ता रोक दिया। इसके बाद संबंधित विभाग के कुछ छात्रों ने मेहमानों को निकालने की कोशिश की। लेकिन प्रदर्शनकारी छात्र रास्ता रोक कर खड़े रहे जिसके बाद छात्र गुटों के बीच हाथापाई शुरू हो गई।

बता दें कि ये लोग आर्किटेक्चर फैकल्टी की ओर से रखे गए प्रोग्राम ‘ग्लोबल हेल्थ जेनिथ : कॉन्फ्लूएस 19’ के दौरान इस इवेंट में इजरायल को पार्टनर रखने का विरोध कर रहे हैं। डीसीपी (साउथ ईस्ट) चिन्मय बिश्वाल ने बताया कि हमने ऐहतियातन पुलिस को तैनात कर दिया और पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles