नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में जारी प्रदर्शन के बीच देश की राजधानी दिल्ली में जामिया मिल्लिया यूनिवर्सिटी के छात्रों का कडा विरोध-प्रदर्शन देखने को मिला। इस दौरान दिल्ली पुलिस और छात्रों के बीच झड़प भी हुई।

पुलिस ने जामिया के छात्रों के मार्च को संसद तक रोकने के लिए लाठी चार्ज किया।इसके अलावा पुलिस ने छात्रों पर आंसू गैस के गोले भी दागे। कई छात्रों को हिरासत में भी लिया गया है। दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी छात्र संघ ने नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन किया।

उधर. यूपी की अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के छात्रों ने भी शुक्रवार को बिल के विरोध में जुलूस निकाला। छात्रों ने कैंपस से जिला मुख्यालय तक शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन किया। हालांकि छात्रों के प्रदर्शन को लेकर जिला प्रशासन को पहले ही अल्टीमेटम दिया गया था, जिसके बाद एएमयू केंपस में भारी संख्या में पीएसी और आरएएफ के साथ लोकल पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया गया।

अलीगढ़ के एडीएम सिटी राकेश मालपाणी ने बताया, ‘इंटरनेट सेवा गुरुवार रात 12 बजे से ही बंद कर दी गई है। यह रोक शुक्रवार शाम पांच बजे तक रहेगी। इसके अलावा शहर को 25 सेक्टरों में बांटा गया है। दो पालियों में 25-25 मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। तहसील स्तर पर एसडीएम व सीओ को सेक्टर बनाकर मजिस्ट्रेट तैनात करने के आदेश दिए गए हैं। हालांकि शांति मार्च निकालने के लिए जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है।’

इसके पहले नागरिकता संशोधन विधेयक के विरोध में एएमयू में गुरुवार को प्रदर्शन हुआ था। विद्यार्थियों के आंदोलन का स्वराज पार्टी के संस्थापक योगेंद्र यादव व गोरखपुर आक्सीजन कांड के चर्चित डॉ. कफील खान ने समर्थन किया।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन