Saturday, September 18, 2021

 

 

 

नसीरुद्दीन शाह के बयान पर बोले भाई जमीरुद्दीन शाह – ‘ध्रुवीकरण की राजनीति पागलपन, छुटकारा पाना ही होगा’

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा पर सवाल उठाने को लेकर दक्षिणपंथियों के निशाने पर आए नसीरुद्दीन शाह के बयान पर उनके भाई और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी लेफ्टिनेंट जनरल जमीर उद्दीन शाह ने सहमती जताई है।

उन्होंने कहा कि मैं सेना के बैकग्राउंड से आया हूं, इसलिए मैं कह सकता हूं कि मेरे पास डरने के लिए कुछ भी नहीं है लेकिन मैं चीजों की स्थिति में पूरी तरह से घृणा करता हूं – ध्रुवीकरण की राजनीति से छुटकारा पाना है, पागलपन को रोकना है। यह सिर्फ बुलंदशहर घटना के बारे में नहीं है। अन्य घटनाएं भी हुई हैं जहां अपराधियों को सजा नहीं दी गई है या गिरफ्तार नहीं किया गया है। मुझे विश्वास करना असंभव लगता है कि पुलिस हिंसा के अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

बता दें कि गुरुवार को एक वीडियो सामने आया जिसमें नसीरुद्दीन शाह को यह कहते हुए दिखाया गया है कि, कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है। ‘‘ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलाद के बारे में सोचकर फिक्र होती है।’’

https://youtu.be/Uh18VUfQJvA

इस बयान के चलते नसीरुद्दीन शाह भगवा संगठनों के निशाने पर आ गए है। उन्हे गद्दार तक करार दे दिया गया। उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के प्रमुख अमित जानी ने नसरुद्दीन शाह को 14 अगस्त, 2019 को मुंबई से कराची का टिकट बुक करा भेजा है। अमित जानी ने कहा है कि ‘जिसको भी देश में डर लगता है वह पाकिस्तान जा सकते हैं, इसका इंतजाम उनका संगठन करवाएगा।’

वहीं विवाद बढ़ने पर शाह ने सवाल उठाते हुए पूछा कि मैंने ऐसा क्या कह दिया, जिस पर मुझे गद्दार कहा जा रहा है?एएनआई की खबर के अनुसार नसीरुद्दीन शाह ने कहा, ”मैंने जो कहा वह एक चिंतित भारतीय की तरह बात की। मैंने इस बार ऐसा क्या कहा कि जिसके बाद मुझे एक गद्दार के रूप पेश किया जा रहा है। मैं उस देश के बारे में चिंताओं को व्यक्त कर रहा हूं जिसे मैं प्यार करता हूं, वह देश जो मेरा घर है। यह अपराध कैसे है?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles