Wednesday, October 20, 2021

 

 

 

लुटेरों से अकेले भिड़ने वाली लड़की का VIDEO वायरल, 1 को पकड़ कर पुलिस के हवाले किया

- Advertisement -
- Advertisement -

जालंधर। पंजाब के जालंधर में लुटेरो की उस वक्त शामत आ गई जब दीन दयाल उपाध्याय नगर में  एक 15 साल की लड़की लुटेरों से अकेले न केवल भिड़ गई। बल्कि घायल होने के बावजूद भी एक लुटेरे को पकड़ भी लिया। लड़की की इस दिलेरी का Video अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

जानकारी के अनुसार, 15 साल की कुसुम जालंधर जिले के फतेहपुरी इलाके में रहती है और दीनदयाल उपाध्याय नगर में ट्यूशन पढ़ने आई थी। कुसुम ने बताया कि वह आठवीं में पढ़ती है और ट्यूशन पढ़कर घर की तरफ जा रही थी। तभी बाइक सवार लुटेरों ने उसका पीछा करना शुरू कर दिया। जैसे ही उसने बैग से मोबाइल फोन निकालकर अपने पिता का नंबर डायल किया, पीछे से आए बाइक सवार दो लुटेरों ने फोन छीन लिया।

जिसके बाद कुसुम ने उनका पीछा किया और एक लुटेरे को तीन बार मोटरसाइकिल से नीचे खींचा। तीसरी बार में जब उसने लुटेरे को उसकी शर्ट पकड़कर नीचे खींचा तो पास में रहने वाले एक अंकल वहां पर आ गए। उन्हें देखकर लुटेरा घबरा गया और उसने उसकी गर्दन पर दातर से हमला किया लेकिन वह उसके हाथ पर लगा। तभी आसपास के लोग आ गए और लुटेरा पकड़ा गया। कुसुम ने बताया कि बाइक पर बैठा दूसरा लुटेरा लगातार कह रहा था कि इसके सिर पर दातर मार दो।

जोशी अस्पताल में कुसुम का उपचार करने वाले डॉक्टर ने कहा कि लड़की के हाथ पर काफी चोट आई है। उसकी सारी नसें कटी चुकी थी और हाथ पूरी तरह लटक गया था। लड़की गरीब परिवार से संबंधित है, इसलिए मुफ्त में उसका ऑपरेशन कर नसें जोड़ दी गई हैं। 4 हफ्ते तक उसे प्लस्तर लगा रहेगा, उसके बाद हाथ में मूवमेंट कराई जाएगी।

इस बारे में थाना दो के प्रभारी जतिंदर शर्मा ने बताया कि घायल कुसुम का इलाज चल रहा है। वहीं उसकी बहादुरी के चलते पकड़े गए अविनाश नामक लड़के को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 379, 34 के तहत मामला दर्ज करके दूसरे आरोपी की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

जालंधर की बहादुर बिटिया कुसुम को डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी 51 हजार रुपए का नकद इनाम देंगे। इसके अलावा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत कुसुम का शुभंकर (मसकट) बनाया जाएगा। जिससे दूसरी लड़कियों को भी बहादुरी की प्रेरणा मिल सके। डीसी थोरी ने कहा कि कुसुम की बहादुरी ने जालंधर को गौरवान्वित किया है। वह दूसरी लड़कियों के लिए रोल मॉडल बन चुकी हैं। कुसुम ने साबित किया कि अगर लड़कियों को पूरा मौका दिया जाए तो वह कोई भी लक्ष्य हासिल कर सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles