Saturday, November 27, 2021

ट्रेन में नहीं मिली सीट तो आर्मी जवान ने यात्री को आतंकी बताकर किया हंगामा

- Advertisement -

दानापुर से पुणे जा रही ट्रेन में कटनी के समीप उस वक्त जमकर हंगामा मच गया. जब आर्मी के एक जवान ने एस-5 कोच की अपनी सीट पर दूसरे यात्री को बैठा देख उसे आतंकी बताकर जबलपुर जीआरपी कंट्रोल रूम को सूचित किया.

कंट्रोल रूम पर खबर मिलते ही जबलपुर स्टेशन छावनी में तब्दील ही गया. हथियारबंद आरपीएफ के जवान और सेना पुलिस ट्रेन के पहुंचने का इंतज़ार करने लगे.जैसे ही ट्रेन स्टेशन पर पहुंची. तत्काल एस-5 कोच की तलाशी ली गई. करीब 20 मिनट की खोजबीन के बाद मामला फर्जी निकला.

रिपोर्ट के मुताबिक ट्रेन नंबर 12150 सेना का जवान नंदन कुमार अपने परिवार से साथ पटना स्टेशन पर चढ़ा. कोच नंबर एस-5 कोच में उसकी सीट रिजर्व थी, लेकिन कुछ लोग उसकी सीट पर आकर बैठ गए. उसने पहले उन लोगों को वहां से हटने के लिए कहा लेकिन वो नहीं माने. इस बात पर उन लोगों के साथ नंदन कुमार का विवाद शुरू हो गया. जब वो खुद से मामला सुलझा नहीं पाया तो उसने ट्रेन के गेट पर जाकर जीआरपी कंट्रोल रूम में फोन कर सूचना दी कि उसकी सीट पर संदिग्ध आतंकवादी बैठा है.

लेकिन जैसे ही अधिकारी कोच की सीट पर पहुंचे, न तो जवान मिला और न ही आतंकवादी. जांच अधिकारियों ने उसे खोजा तो वह ट्रेन के बाथरूम में छिपा मिला. प्लेटफार्म पर उतारकर उससे पूछताछ की, तो नंदन कुमार ने माना कि उसी ने आतंकवादी होने की सूचना दी थी. जिसके बाद जीआरपी ने उसका आईडी कार्ड जब्त कर लिया और उसे जाने दिया. जीआरपी ने कहा कि उसके खिलाफ सेना के नियमों के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी.

‘दोपहर को जीआरपी कंट्रोल में फोन आया कि ट्रेन नंबर 12150 के स्लीपर कोच में आतंकवादी हैं. जांच में सूचना गलत निकली. आर्मी के जवान ने सीट से यात्री को हटाने के लिए यह सूचना दी थी.’ – वीरेन्द्र कुमार, टीआई, आरपीएफ, जबलपुर पोस्ट

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles