छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में स्थित आईटीबीपी के कैंप में बुधवार की सुबह जवानों के बीच आपसी नोकझोंक खूनी संघर्ष में तब्दील हो गई। इस दौरान एक जवान ने अपने साथियों पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमे 6 जवानों की मौके पर ही मौ’त हो गई। जबकि दो अन्य जवान घाय’ल बताए जा रहे हैं।

मृ’त जवानों में दो हवलदार और 4 सिपाही शामिल हैं। अभी इनके नामों की पुष्टि नहीं हो पाई है। यह सभी जवान बाहरी राज्यों के हैं, जो यहां कैंप में तैनात किए गए थे। घटना के कारणों की जांच की जा रही है। कडेनार स्थित आईटीबीपी के कैंप में ये घटना हुई है।

घटना की पुष्टि करते एसपी मोहित गर्ग ने बताया कि बुधवार की सुबह कैंप में जवानों के बीच आपस में गो’लीबारी होने से छह जवानों की मौके पर मौ’त हो गई है। वहीं, दो जवान घायल हुए हैं, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए हेलिकॉप्टर से रायपुर ले जाया जा रहा है।

राज्य के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि इस मामले की विस्तृत जानकारी मंगाई जा रही है। जवानों की छुट्टी तय रहती है, उन्हें छुट्टी के लिए रोका नहीं जाता है। इसलिए छुट्टी की वजह से घटना नहीं हुई होगी। उन्होंने कहा कि फ्रस्टेशन की कोई बात नहीं है। जवानों के बीच किसी बात को लेकर आपसी विवाद हुआ होगा। थोड़ी देर में घटना से जुड़ी और जानकारी आ जाएगी।

वहीं बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज. पी ने बताया कि जिले के धौड़ाई पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत कड़ेनार गांव में स्थित आईटीबीपी की 45वीं बटालियन के शिविर में जवान मसुदुल रहमान ने अचानक गो’लीबारी शुरू कर दी। इस घटना में चार जवानों की घटनास्थल पर ही मौ’त हो गई तथा तीन अन्य जवान घाय’ल हो गए।

सुंदराज ने बताया कि घटना में रहमान की भी मौ’त हो गई तथा बाद में एक घाय’ल जवान ने दम तोड़ दिया। उन्होंने बताया कि इस घटना में हिमाचल प्रदेश निवासी प्रधान आरक्षक महेंद्र सिंह, पंजाब निवासी प्रधान आरक्षक दलजीत सिंह, पश्चिम बंगाल निवासी आरक्षक सुरजीत सरकार और आरक्षक बिश्वरूप महतो और केरल निवासी आरक्षक बीजीश की मौ’त हो गई जबकि केरल निवासी एस बी उल्लास और राजस्थान निवासी सीताराम दून घाय’ल हुए हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन