नई दिल्ली/कोच्चि। लीबिया के हिंसा प्रभावित जाविया शहर में रॉकेट हमले में केरल की एक नर्स और उसके डेढ़ साल के बच्चे की मौत हो गई। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि सुनू साथयान और उनके बेटे प्रणव की कल जाविया शहर में शाम करीब चार बजे हुए रॉकेट हमले में मौत हो गई। सुषमा ने ट्वीट किया, ‘‘25 मार्च, 2016 को शाम करीब चार बजे श्रीमती सुनू साथयान और उनके बेटे प्रणव की मौत हो गई जब एक रॉकेट उनके अपार्टमेंट पर गिरा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने उनके पति विपिन कुमार से संपर्क किया है। जाविया अस्पताल में 26 और भारतीय काम करते हैं।’’ केरल के कोट्टायम जिले के कोंडाडू से ताल्लुक रखने वाले सुनू के पिता साथयान नायर ने बताया कि सुनू लीबिया के अज जाविया के जाविया मेडिकल सेंटर में काम करती थी। उसका पति विपिन कुमार पुरूष नर्स है और घटना के समय घर में मौजूद नहीं था। वह ड्यूटी पर था।

विदेश मंत्री ने युद्ध प्रभावित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों से फिर अपील में कहा है कि वे इन इलाकों से बाहर निकल जाएं। उन्होंने कहा, ‘‘हमने कई बार परामर्श जारी किया है। मैं आपसे एक बार फिर आग्रह करती हूं कि संघर्ष वाले क्षेत्रों से बाहर निकल जाएं।’’

नायर ने शवों को वापस लाने के लिए केरल सरकार से मदद मांगी है।  उन्होंने सरकार को लिखे पत्र में कहा, ‘‘कल मुझे फोन पर सूचना मिली कि मेरी बेटी और उसके डेढ़ साल के बच्चे की मौत एक बम विस्फोट में उसके निवास पर उस वक्त हो गई जब वे सो रहे थे।’’

इस बीच, केरल के गृहमंत्री रमेश चेन्नितला ने कहा कि आठ या नौ लोग लीबिया में फंसे हैं और उन्हें वापस लाने की कोशिश जारी है। चेन्नितला ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘केरल सरकार इस मुद्दे पर सतर्क है। हम विदेश मंत्रालय और लीबिया में दूतावास से संपर्क में हैं। हम वहां फंसे सभी लोगों को सुरक्षित निकालने की कोशिश कर रहे हैं।’’

केरल के पादरी को ISIS ने अगवा किया,छुड़ाने की क़वायद तेज़

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने शनिवार को यमन में केरल के एक पादरी टॉम उझुननालिल के अगवा होने की खबरों की पुष्टि कर दी है। भारतीय पादरी टॉम को इराक एवं सीरिया में सक्रिय चरमपंथी संगठन आईएसआईएस ने अगवा किया है। सरकार ने कहा है कि पादरी की रिहाई के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा कि यमन में केरल के एक पादरी टॉम उझुननालिल को चरमपंथी संगठन आईएसआईएस ने अगवा कर लिया है। सरकार उनकी रिहाई के लिए सभी संभव प्रयास कर रही है।

आईएसआईएस द्वारा ईसाई समुदाय के प्रमुख त्यौहार ईस्टर के मौके पर पादरी टॉम को क्रूस पर चढ़ाने संबंधित एक रिपोर्ट जारी होने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने तत्कालीन मामले पर संज्ञान लिया। इससे पहले गत चार मार्च को यमन के एक वृद्धाश्रम पर हमला कर भारतीय पादरी टॉम को बंदी बना लिया गया था।

यमन के अदन शहर में कोलकाता की संस्था मिशनरीज ऑफ चैरिटी द्वारा चलाए जा रहे एक वृद्धाश्रम पर आतंकवादियों ने हमला किया जिसमें एक भारतीय नन समेत 16 लोग मारे गए थे।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?