irf1

irf1

जम्‍मू-कश्‍मीर में छुट्टियों में आने वाले देश के जवानों की हत्या का सिलिसला थम नहीं रहा है. एक बार फिर से आतंकियों ने 23 वर्षीय एक जवान की हत्या कर  दी है. जिसका शव शोपियां के वतमुल्लाह कीगम के बगीचे वाले इलाके से बरामद हुआ.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मृतक जवान की पहचान इरफान अहमद मीर के रूप में हुई है. उत्‍तरी कश्‍मीर के गुरेज सेक्‍टर में तैनात इरफ़ान 10 दिन पहले छुट्टी पर घर आये थे. और शुक्रवार रात लापता हो गए थे. उनके शव के पास इंसास राइफल के खाली कारतूस मिले.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मीर की हत्या की निंदा की है. महबूबा ने ट्विटर पर लिखा, ‘शोपियां में टेरिटॉरियल आर्मी के एक बहादुर जवान की भयावह हत्या की कड़ी निंदा करती हूं. इस तरह की नृशंस गतिविधि घाटी में शांति स्थापित करने के हमारे संकल्प को कमजोर नहीं करेगा.’

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी इस जवान की हत्या की निंदा की. उन्होंने ट्वीट किया, ‘युवा इरफान डार की हत्या काफी दुखद और निन्दनीय है. परिवार के प्रति मेरी दिली संवेदना.’

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया, “23 वर्षीय सिपाही इरफान अहमद डार शोपियां जिले के सेनजेन गांव का निवासी था. वह सेना में बतौर सैनिक कार्यरत था. वह बांदीपोरा जिले में प्रादेशिक सेना इकाई में तैनात था.” उन्होंने कहा, वह 26 नवंबर तक अवकाश पर था. ऐसा लग रहा है कि अवकाश के दौरान आतंकवादियों ने उसे अगवा कर उसकी हत्या कर दी. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

Loading...